हंगामें और शोर शराबे के कारण शून्य काल स्थगित

जयपुर (उत्तम हिन्दू न्यूज): राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेधवाल ने विपक्ष द्वारा लगातार किये जा रहे शोर शराबे और हंगामे के कारण शून्यकाल की कार्यवाही दो बजे तक स्थगित कर दी। शून्य काल शुरू होते ही मेघवाल ने सदन की कार्यवाही के तहत कांग्रेस विधायक गोविंद डोटासरा की ओर से किसानों की ऋण माफी को धोखा बताने संबंधी रखे गये स्थगन प्रस्ताव को नामंजूद करने का मुद्दा उठाया। इस मुददे को लेकर सदन की वैल में आये कांग्रेस विघायकों ने बंद करो भई बंद करो किसानों का शोषण बंद करो के नारे भी लगाये। 

डोटासरा द्वारा उठाये गये इस मुददे पर प्रतपिक्ष के नेता रामेश्वर डूडी ने भी समर्थन करते हुये आसन से आग्रह किया कि प्रदेश में किसानों की ऋण माफी के नाम पर धोखा किया जा रहा है और किसानों से जुड़े हुये इस मुददे पर चर्चा करायी जानी चाहिये । उन्होंने अध्यक्ष पर संसदीय कार्यमंत्री के इशारे पर सदन की कार्यवाही चलाने का आरोप लगाते हुये कहा कि वह विपक्ष द्वारा जनता के हित में उठाये गये मुददों पर चर्चा ही नही कराना चाहते। 

डोटासरा ने कहा कि उन्होंने नियमों के तहत ही स्थगन प्रस्ताव सदन में रखा है लेकिन सरकार इस पर चर्चा कराने से ही भाग रही है। इस पर संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राठौड़ सरकारी मुख्य सचेतक कालू लाल गुर्जर सहित सत्ता पक्ष के अनेक सदस्यों ने इसका विरोध करते हुये विपक्ष पर सदन की कार्यवाही को बाधित करने का आरोप लगाया।

Related Stories: