भारी फजीहत के बाद WhatsApp का यूटर्न, नई प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट को किया स्थगित

वाशिंगटन (उत्तम हिन्दू न्यूज): मैसेजिंग ऐप व्हाट्सएप ने हाल ही में अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को अपडेट करने की घोषणा की, जिसके बाद यूजर्स में नाराजगी देखने को मिली। यहां तक कि लोगों ने व्हाट्सएप से दूरी भी बनानी शुरू कर दी। इसके बाद व्हाट्सएप ने कई माध्यमों से अपने यूजर्स को ये बताने की कोशिश की कि व्हाट्सअप आपकी प्राइवेसी को सुरक्षित रखता है। लेकिन अब इन सबके बाद व्हाट्सएप ने घोषणा की कि उसने अपनी प्राइवेसी अपडेट को स्थगित कर दिया है। कंपनी ने कहा कि लोगों के बीच गलत सूचना पहुंचने के कारण गोपनीयता अपडेट को स्थगित करने का निर्णय लिया गया है।

Whatsapp takes THIS major step amid growing concerns over privacy update  plan

दी गई ये सफाई
WhatsApp ने कंपनी के ब्लॉग में कहा कि हमने इतने लोगों से सुना है कि हमारे हालिया अपडेट को लेकर कितना भ्रम है। चिंता पैदा करने के लिए बहुत सी गलत जानकारियां हैं। हम हर किसी को हमारे सिद्धांतों और तथ्यों को समझने में मदद करना चाहते हैं। व्हाट्सएप एक सरल विचार पर बनाया गया था: आप अपने दोस्तों और परिवार के साथ जो भी शेयर करते हैं वह आपके बीच रहता है। इसका मतलब है कि हम आपकी व्यक्तिगत बातचीत को हमेशा एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन से सुरक्षित रखेंगे, ताकि व्हाट्सएप या फेसबुक इन निजी संदेशों को न देख सकें। यही कारण है कि हम हर किसी के मैसेजिंग या कॉलिंग के लॉग नहीं रखते हैं। हम आपकी शेयर्ड लोकेशन भी नहीं देख सकते हैं और हम आपके कॉन्टैंक्ट्स फेसबुक से साझा नहीं करते हैं।

WhatsApp delays launch of business feature after privacy backlash

नई पॉसिली से दूसरे एप्स को फायदा
इससे पहले नई पॉलिसी को लेकर व्हाट्सएप ने अपने ब्लॉग में लिखा कि 8 फरवरी को किसी को भी अपना अकाउंट सस्पेंड या डिलीट नहीं करना होगा। व्हाट्सएप पर प्राइवेसी और सिक्योरिटी कैसे काम करती है, इसके बारे में गलत जानकारी को सही करने के लिए हम बहुत कुछ करने जा रहे हैं। वहीं व्हाट्सएप की इस किरकिरी का फायदा सिग्नल एप को हुआ है। व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी का हल्ला होने के बाद सिग्नल एप को को धड़ल्ले से डाउनलोड किया जा रहा है। 

यही वजह है कि देखते ही देखते सिग्नल एप्पल एप स्टोर पर व्हाट्सएप को पछाड़ कर भारत में शीर्ष फ्री एप बन गया। भारत के अलावा यह जर्मनी, फ्रांस, आस्ट्रिया, फिनलैंड, हांगकांग और स्विट्जरलैंड में व्हाट्सएप को पछाड़ कर टॉप पर आ गया है। वहीं जर्मनी और हंगरी में सिग्नल गूगल प्ले स्टोर में भी टॉप फ्री एप में अपनी जगह बनाने में कामयाब हो गया है।