पति के रंग से नाखुश थी पत्नी, पेट्रोल डाल कर जिंदा जलाया

बरेली (उत्तम हिन्दू न्यूज): उत्तर प्रदेश के बरेली में मानवीय संवेदनाओं को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आया है। जहां एक 22 वर्षीय विवाहिता ने अपने ही पति को पेट्रोल डाल कर जिंदा जला दिया। पति को जिंदा जलाने की असली वजह सिर्फ ये थी कि पति का रंग काला है जिसकी वजह से पत्नी उसे पसंद नहीं करती थी।  

घटना के बाद पति को गंभीर हालत में अस्पताल ले जाया गया। वहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। महिला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

घटना बरेली के खुर्द फतेहगढ़ थाना क्षेत्र की है। महिला की पहचान प्रेमश्री के रूप में हुई है। खुर्द फतेहगढ़ के थाना प्रभारी इंस्पेक्टर सहदेव सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि इलाके में रहने वाले सत्यवीर सिंह की शादी दो साल प्रेमश्री नामक महिला से हुई थी। उन दोनों की 5 माह की एक बेटी भी है। इसके बावजूद सत्यवीर कभी भी प्रेमश्री को पसंद नहीं आया। उसका रंग काला होने की वजह से प्रेमश्री को वह नापसंद था।

थाना प्रभारी के मुताबिक, बीते सोमवार की सुबह करीब 5 बजे जब सत्यवीर सिंह चारपाई पर सो रहा था। उसी वक्त उसकी पत्नी प्रेमश्री ने उसके ऊपर पेट्रोल छिड़का और उसे आग के हवाले कर दिया। इस दौरान कुछ पेट्रोल प्रेमश्री के पैरों पर भी गिर गया, जिसकी वजह से उसके पैर भी जल गए।

सत्यवीर की चीख पुकार सुनकर उसके परिजन और आस-पास के लोग वहां पहुंच गए।  फौरन सत्यवीर को अस्पताल ले जाया गया। जहां कुछ देर बाद ही उसकी मौत हो गई।  परिजनों ने बताया कि प्रेमश्री शादी के बाद से ही सत्यवीर को पसंद नहीं करती थी वो उसे काले रंग के लिए अक्सर ताने मारती थी। लेकिन सत्यवीर उसे बहुत प्यार करता था।

उसे ज़रा भी अंदाजा नहीं था कि एक दिन उसकी पत्नी ही उसकी जान ले लेगी। बरेली पुलिस ने सत्यवीर की मौत के बाद उसकी पत्नी प्रेमश्री के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया है।