बेटी की शादी के लिए चाहिए था लोन, साइबर ठगों के जाल में गंवा बैठा पूंजी

फरीदाबाद (मनोज तोमर): फरीदाबाद में रहने वाले होषिला प्रसाद को अपनी बेटी की शादी करने के लिए लोन चाहिए था, जिसकी भनक ऑनलाइन ठगी करने वाले कुछ आरोपियों को लग गई थी। जिस पर आरोपियों ने नाम बदलकर अलग-अलग नंबरों से होषिला प्रसाद के पास कॉल करनी शुरू कर दी। आरोपियों ने होषिला प्रसाद से कहा कि वह पॉलिसी पर लोन दिला देंगे। जिस पर होषिला प्रसाद आरोपियों के चुंगल में आ गए। आरोपी पॉलिसी पर लोन दिलाने का झांसा देकर अलग-अलग अकाउंट में कभी जीएसटी का बहाना कभी इनकम टैक्स का बहाना बनाकर होषिला प्रसाद से कुल 2,90,000 वसूल कर लिए थे।

जब होषिला प्रसाद ने आरोपियों से कहा कि वह अपने लोन से संबंधित जानकारी हासिल करना चाहता है तो आरोपियों ने फोन स्विच ऑफ कर लिया। होषिला प्रसाद को शक हुआ कि कहीं उसके साथ धोखाधड़ी तो नहीं हो गई है और उसने पुलिस में यह सूचना दी। जिस पर आरोपियों के खिलाफ साइबर अपराध शाखा में मामला दर्ज हुआ क्राइम ब्रांच ने कड़ी मेहनत करते हुए इस मामले में 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। आरोपियों से साइबर अपराध शाखा ने 65000 रुपए बरामद कर लिए थे।

इसी प्रकरण में क्राइम ब्रांच ने जांच को आगे बढ़ाते हुए दो आरोपियों को ओर गिरफ्तारी किया है। एसीपी श्रीमती धारणा यादव ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि साइबर अपराध शाखा ने इस केस में कॉल सेंटर के मालिक रिचा भटनागर मंगोलपुरी दिल्ली और विकास कुमार नरेला दिल्ली को गिरफ्तार किया है। यह दोनों आरोपी भी होषिला प्रसाद के साथ ऑनलाइन धोखाधड़ी करने में शामिल थे। गिरफ्तार दोनों आरोपियों से साइबर अपराध शाखा ने 143000 रुपए बरामद किए हैं। आरोपियों को अदालत में पेश कर जेल भेजा गया है।