Wednesday, September 19, 2018 12:51 AM

हिंसक हुआ विपक्ष का भारत बंद, कहीं तोड़फोड़ तो कहीं आगजनी

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों के खिलाफ कांग्रेस समेत विपक्ष दलों के बंद के दौरान कई जगह हिंसक झड़पे हुई है। इस भारत बंद की अगुवाई कांग्रेस पार्टी कर रही है, जिसके साथ करीब 20 राजनीतिक पार्टियों का समर्थन है। कांग्रेस सूत्रों से मिली खबर में बताया गया है कि यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस के कई बड़े नेता आज धरना दे सकते हैं। 

इधर खबर आ रही है कि पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों और महंगाई के खिलाफ आज कांग्रेस की ओर से बुलाए गए भारत बंद की अगुवाई के लिए पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी राजघाट पहुंचे। राहुल गांधी बीते कुछ दिनों से मानसरोवर की यात्रा पर गए हुए थे और वहां से लौटकर वह सीधे बंद का समर्थन करने के लिए सड़कों पर उतर आए हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने राजघाट पहुंचकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी और उन्होंने कैलाश झील से लाए गए जल को बापू की समाधि पर चढ़ाया। इसके बाद उन्होंने मार्च की अगुवाई की। राहुल गांधी के साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं समेत विपक्ष के के कई नेता भी राजघाट से महंगाई के खिलाफ मार्च पर निकल चुके हैं। यह मार्च रामलीला मैदान तक जाएगा। 

बिहार से आ रही खबर में बताया गया है कि बंद के दौरान पटना में सांसद पप्पू यादव ने भारत बंद के दौरान प्रदर्शन किया, उन्होंने अपने समर्थकों के साथ ट्रेन रोक दी। इधर महाराष्ट्र में विपक्ष का भारत बंद बेहद आक्रामक और हिंसक रूप ले लिया है। राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कार्यकतार्ओं ने पुणे में कई बसों में पत्थरबाजी की। महाराष्ट्र में कई स्थानों से आगजनी की भी खबर आ रही है। दक्षिण राज्य केरल में भी विपक्ष के भारत बंद का असर देखने को मिल रहा है। 

केरल में सुबह 6 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक भारत बंद रहेगा। राज्य में अधिकतर जगह दुकानें बंद हैं इसके साथ ही राज्य की बस सेवा पूरी तरह ठप है। बिहार के दरभंगा में प्रदर्शनकारियों ने कमला फास्ट पैसेंजर को रोका और रेल की पटरियों पर लेट गए। बिहार के जहानाबाद में राजद कार्यकर्ताओं ने रेलवे ट्रैक पर आगजनी की है, जिसके कारण कई गाडिय़ों के परिचान पर अवरोध के खतरे मंडराने लगे हैं। बिहार के खगडिय़ा में बंद समर्थकों ने एनएच 31 को जाम किया। यही नहीं आरजेडी के कार्यकत्र्ताओं ने बस स्टेंड पर प्रदर्शन किया है। 

कर्नाटक के मेंगलुरु में कुछ उपद्रवियों ने एक प्राइवेट बस पर पत्थर फेंके हैं। कांग्रेस नेता अशोक गहलोत का कहना है कि हम प्रदर्शन के जरिए मोदी सरकार पर दबाव बनाना चाहते हैं ताकि वे पेट्रोल-डीजल के दाम कम करें। जिस तरह उन्होंने हमारे दबाव के कारण राजस्थान में वैट में कटौती की है। उन्होंने कहा कि बीजेपी की बैठक में पेट्रोल-डीज़ल की बात ही नहीं की गई। उन्होंने कहा कि यह बेहद खतरनाक संकेत है क्योंकि केन्द्र सरकार इसे कोई समस्या ही नहीं मान रही है। कर्नाटक के कलबुर्गी में भारत बंद का व्यापक असर है। यहां बस सर्विस पूरी तरह से ठप है। 

बंद के दौरान गुजरात के अहमदाबाद में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। यहां के इसनपुर में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने स्कूल बंद करवाया, इसके अलावा भी कई प्राइवेट स्कूलों की छुट्टी घोषित की गई है। गुजरात में कई स्थानों से हिंसक झड़पों की खबर आ रही है। ओडिशा के भुवनेश्वर में भारत बंद का असर व्यापक रूप से देखने को मिल रहा है। सड़कों पर विपक्षी पार्टियों के कार्यकत्र्ता प्रदर्शन कर रहे हैं ओर कई ट्रेन के परिचालन को रोक दिया गया है। 

आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में सीपीआई (एम) के कार्यकर्ताओं ने सुबह-सुबह प्रदर्शन किया। यहां भी बंद का असर देखने को मिल रहा है। इधर दिल्ली में बंद का असर साफ-साफ दिख रहा है। पंजाब, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश में भी बंद के व्यापक असर की खबर है। इसके अलावा उत्तर पदेश और उत्तराखंड में भी बंद के असर देखने को मिल रहे हैं। हालांकि यहां से अभी तक कोई हिंसक वारदात की खबर नहीं आयी है। 

समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, एनसीपी, RLD, RJD, CPI, CPM, AIDUF, NC, JMM, JVM, DMK, TDP, KERALA CONGRESS (M), RSP, IUMP, LOK TANTRIC JANTA DAL, SWABHIMAN PAKSHA- R Shetty  ने भारत बंद का आह्वान किया है। इसके अलावा टीएमसी और आम आदमी पार्टी ने भी विरोध का समर्थन किया है लेकिन भारत बंद से दूर हैं। भारत बंद को देखते हुए कई राज्यों ने सरकारी छुट्टी का ऐलान किया है। कांग्रेस ने दावा किया है कि भारत बंद के दौरान किसी भी प्रकार की हिंसा नहीं होगी। बंद का समर्थन करने वाले दलों में सपा, बसपा, डीएमके समेत 21 दल हैं।

कर्नाटक सरकार ने बंद के चलते सोमवार को सभी शिक्षण संस्थानों में छुट्टी का ऐलान कर दिया है। सरकारी दफ्तरों में भी छुट्टी रहेगी। इधर, आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस के इस बंद से किनारा कर लिया है। भारत बंद से कई चीजों को बाहर रखा गया है। इसमें दवा की दुकान अस्पताल और एंबुलेंस को राहत दी गई है, ताकि मरीजों और तीमारदारों को किसी तरह की समस्या न हो। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।