पंजाब सरकार ने पाँच सरकारी स्कूलों का नाम शहीदों और स्वतंत्रता सेनानियों के नाम पर रखा: विजय इंदर सिंगला

जालंधर (उत्तम हिन्दू न्यूज):स्कूल शिक्षा मंत्री  विजय इंदर सिंगला ने कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों, शहीदों और नामवर शख्सियतों के योगदान को सराहना एवं प्रशंसा देने के लिए राज्य सरकार ने पाँच सरकारी स्कूलों का नाम ऐसे शहीदों के नाम पर रखा है।  सिंगला ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के दूरदर्शी नेतृत्व के अधीन राज्य सरकार द्वारा नाम बदलने की नीति को पारदर्शी ढंग से लागू करने के साथ-साथ स्कूल शिक्षा की गुणवत्ता में मानक सुधार यकीनी बना रही है। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि उनकी सरकार द्वारा शुरू किए गए सुधारों के सकारात्मक नतीजे सामने आए हैं, जोकि दाखि़ले और नतीजों में वृद्धि के तौर पर रिकॉर्ड पर देखे जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि सभी नीतियों और सुधारों को मेरिट के आधार पर लागू किया जा रहा है, जो आज के समय में स्कूल शिक्षा के क्षेत्र में बदलाव का आधार भी बने हुए हैं। उन्होंने कहा कि नोटीफिकेशन जारी करने से पहले शिक्षा विभाग ने तस्दीक की बनती प्रक्रिया को पूरा और इससे विभागों से भी क्लीयरेंस के लिए जा चुकी हैं।

    शिक्षा मंत्री ने बताया कि बठिंडा जि़ले के सरकारी सीनियर सेकंडरी स्कूल सेखू का नाम बदल कर शहीद लाभ सिंह सरकारी सीनियर सेकंडरी स्कूल, एस.ए.एस नगर जि़ले के सरकारी हाई स्कूल धर्मगढ़ को शहीद सिपाही गुरप्रीत सिंह सरकारी सीनियर सेकंडरी स्कूल और जि़ला मानसा के सरकारी माध्यमिक स्कूल चक्क भाईके को शहीद हवलदार सुखविन्दर सिंह सरकारी माध्यमिक स्कूल चक्क भाईके का नाम दिया गया है।

    कैबिनेट मंत्री ने बताया कि फरीदकोट जि़ले के एक सरकारी सीनियर सेकंडरी स्कूल का नाम रोड़ी कपूरा गाँव से सम्बन्धित एक स्वतंत्रता सेनानी के नाम पर रखा गया है और अब स्कूल को स्वतंत्रता सेनानी जंगीर सिंह सरकारी सीनियर सेकंडरी स्कूल रोड़ी कपूरा के तौर पर जाना जाएगा। उन्होंने कहा कि जालंधर जि़ले के एक अन्य स्कूल का नाम भी प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ कामरेड हरक्रिशन सिंह सुरजीत के नाम पर रखा गया है और गाँव बुंडाला का स्कूल अब कामरेड हरक्रिशन सिंह सुरजीत सरकारी सीनियर सेकंडरी स्कूल बुंडाला के तौर पर जाना जाएगा।