उर्दू के मशहूर शायर कैसर सिद्दीकी समस्तीपुरी का निधन

समस्तीपुर (उत्तम हिन्दू न्यूज): राष्ट्रीय स्तर के उर्दू के मशहूर शायर कैसर सिद्दीकी समस्तीपुरी का यहां निधन हो गया। वह करीब 82 वर्ष के थे। सिद्दीकी पिछले कई दिनों से बीमार थे और कल रात इलाज के दौरान यहां के एक निजी अस्पताल में उनका निधन हो गया। श्री सिद्वीकी द्वारा लिखित कव्वाली ‘अपने मां-बाप का तू दिल न दुखा ’ देश मे काफी चर्चित रही। इसके अलावे शायर कैसर सिद्वीकी ने सामाजिक सौहार्द को बढ़ावा देनी वाली 12 से अधिक पुस्तकें लिखी जो काफी चर्चित है।

सिद्दीकी को आज उनके पैतृक गांव समस्तीपुर जिले के हकिमाबाद नवादा मे सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया। इनके निधन पर समस्तीपुर के लोजपा सांसद रामचन्द्र पासवान, राजद विधायक सह प्रदेश प्रवक्ता अख्तरुल इस्लाम शाहीन, जदयू राज्यसभा सांसद रामनाथ ठाकुर,समस्तीपुर नगर परिषद् के पूर्व उपाध्यक्ष विश्वनाथ साह और कांग्रेस पार्टी के जिलाध्यक्ष मो.अबू तमीम ने गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि स्व.कैसर सिद्वीकी ने अपनी शायरी और लेखनी के माध्यम से सामाजिक सौहार्द को हमेशा बढ़ावा दिया जिसे सदैव याद रखा जायेगा। 

Related Stories: