'रेप इन इंडिया' बयान पर संसद में हंगामा, माफी न मांगने पर अड़े राहुल गांधी

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): रेप वाले बयान को लेकर राहुल गांधी ने माफी मांगने से इंकार कर दिया है। उन्होंने कहा कि, मैं माफी नहीं मांगूंगा। बीजेपी मुद्दे से ध्यान भटकाने के लिए ऐसे पैंतरे अपना रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने दुनिया में भारत की छवि खराब की है। आज अर्थव्यवस्था की बात नहीं होती है। राहुल ने अपने ट्वीटर पर पीएम मोदी का वीडियो भी शेयर किया है जिसमें पीएम मोदी ने दिल्ली को रेप कैपिटल कहा था। राहुल गांदी ने कहा, ध्यान भटकाने के लिए बीजेपी वाले शोर मचा रहे हैं। मेक इन इंडिया की बात प्रधानमंत्री ने की थी तो मैंने रेप इन इंडिया कहा है। 

उन्होंने कहा, भाजपा शासित ऐसा कोई राज्य नहीं है जहां से महिलाओं पर अत्याचार की खबरें नहीं आती हैं। उन्नाव में क्या हुआ? भाजपा विधायक ने लड़की के साथ दुष्कर्म किया। उसकी गाड़ी का एक्सीडेंट करवाया। पूरे देश में हिंसा हो रही है। जम्मू-कश्मीर में हिंसा हो रही है। पूर्वोत्तर में हिंसा हो रही है। रघुराम राजन (आरबीआई के पूर्व गवर्नर) जी मुझसे मिले और कहा कि हिंदुस्तान की ताकत अर्थव्यवस्था है। आज विश्व में भारत की अर्थव्यवस्था की कहीं चर्चा ही नहीं हो रही। 

 इससे पहले, लोकसभा में बीजेपी ने राहुल गांधी से रेप वाले बयान पर माफी की मांग की थी। वहीं हंगामा होने के बाद लोकसभा का शीतकालीन सत्र अनिश्चितकाल के लिए खत्म हो गया। उसके बाद राज्यसभा में अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गया। राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी के अलावा केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि राहुल खुलेआम कह रहे हैं कि रेप इन इंडिया, तो क्या वो दुनिया को भारत में आकर बलात्कार करने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं। लोकसभा के अलावा राज्यसभा में भी राहुल गांधी के खिलाफ नारेबाजी हुई, लेकिन राज्यसभा चेयरमैन वेंकैया नायडू ने कहा कि जो सदस्य इस सदन का नहीं है, उसका नाम नहीं लिया जा सकता है।