उन्नाव रेप केसः पीड़िता के पिता का इलाज करने वाले डॉक्टर की संदिग्ध हालात में मौत

उन्नाव (उत्तम हिन्दू न्यूज): उन्नाव रेप केस के मामले में एक बड़ी खबर सामने आ रही है। पीड़िता के पिता का इलाज करने वाले डॉक्टर प्रशांत उपाध्याय की संदिग्ध हालात में मौत हो गई है। डॉक्टर प्रशांत ही थे जिन्होंने पीड़िता के पिता का इलाज किया था। मारपीट के बाद पीड़िता के पिता को जिला अस्पताल लाया गया था। इमरजेंसी में मौजूद ड़. उपाध्याय ने ही उनका इलाज किया था। इन्होंने ही पीड़िता के पिता को जेल भेज दिया था।
Image result for unnao rape case dr. prashanth death

इस मामले पर विवाद होने के बाद जब इसकी सीबीआई जांच शुरू हुई तो डॉक्टर प्रशांत उपाध्याय को सस्पेंड कर दिया गया था और लंबे समय बाद इनकी बहाली हुई थी। इस वक्त डॉक्टर प्रशांत फतेहपुर में तैनात थे। सोमवार को संदिग्ध परिस्थितियों में डॉक्टर प्रशांत की मौत हो गई। बता दें कि कल इसी केस से जुड़े मामले में तीस हजारी कोर्ट में कल सुनवाई होनी है। रिपोर्ट के मुताबिक डॉक्टर प्रशांत उपाध्याय मधुमेह से पीड़ित थे।
Image result for unnao rape case dr. prashanth death

इससे पहले पिछले हफ्ते पूर्व विधायक कुलदीप सेंगर के खिलाफ उन्नाव रेप मामले में ट्रक की टक्कर से घायल वकील महेंद्र सिंह की सेहत की रिपोर्ट एम्स ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल कर दी। महेंद्र सिंह की सेहत की रिपोर्ट में कहा गया कि महेंद्र सिंह का इलाज पूरा हो चुका है। अब इससे ज्यादा इलाज की जरूरत नहीं है। कोर्ट ने महेंद्र सिंह के परिवार वालों को कहा है कि वो उन्हें कहीं और ले जाकर इलाज कराना चाहते हैं तो ले जा सकते हैं।

भारतीय जनता पार्टी के पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को 2017 के उन्नाव रेप मामले में पिछले महीने दिल्ली की एक अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई। कोर्ट ने सेंगर पर 25 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया। इसमें से 10 लाख रुपये पीड़िता को दिए जाएंगे और 15 लाख रुपये अभियोजन को मिलेंगे।