पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के खिलाफ अनोखा प्रदर्शन

शिमला (ऊषा शर्मा): पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ हिमाचल की राजधानी शिमला में युवा कांग्रेस ने मंगलवार को अनोखे अंदाज़ से विरोध किया। युवा कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने कपड़े उतारकर एक कार को रस्सी से खींचकर विरोध जाहिर किया तथा पेट्रोल डीजल की कीमतों को वापस लिए जाने की मांग की। इस दौरान युवा कांग्रेसियों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। 

युवा कांग्रेस का यह अनोखा विरोध प्रदर्शन प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय से स्थानीय बस अड्डे तक चला। इसके बाद प्रदर्शनकारी राम बाजार और लोअर बाजार होते हुए जिलाधीश कार्यालय पहुंचे और जिलाधीश के माध्यम से  राष्ट्रपति को एक ज्ञापन सौंपा। इस अवसर पर प्रदेश युवा कांग्रेस के महासचिव एवं प्रभारी शिमला शहरी निशांत ठाकुर और नरेश दास्टा प्रदेश महासचिव एवं प्रभारी कसुम्पटी चुनाव क्षेत्र ने विशेष तौर पर शिरकत की। शिमला शहरी युवा कांग्रेस के अध्यक्ष विरेन्द्र बांष्टू ने कहा कि पेट्रोल व ड़ीजल के दामों में इस तरह से बृद्वि होती रही तो आने वाले समय में गाड़ी को रस्से से खिंचना पड़ेगा। 

उन्होंने कहा कि यह 70 साल में पहली बार ऐसा हुआ कि ड़ीजल पेट्रोल से मंहगा हो गया है। उन्होने कहा कि केन्द्र सरकार के जनविरोधी फैसलों से जनता में आक्रोश हैं और सडक़ों पर उतरने केलिए आतुर हैं। उन्होंने कहा कि पहले नोटबन्दी व जीएसटी फैसलों से आम जनता प्रभावित हुआ हैं और अब इस करोना संकट की महामारी के दौरान पेट्रोल व ड़ीजल के दामों में लगातार बृद्वि कर के आम जनता की कमर तोड़ दी है। 
उन्होंने कहा कि पेट्रोल व ड़ीजल के दामों में इस तरह से बृद्वि होती रही तो आने वाले समय में गाड़ी को रस्से से खिंचना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि यह 70 साल में पहली बार ऐसा हुआ कि ड़ीजल पेट्रोल से मंहगा हो गया है। उन्होने कहा कि केन्द्र सरकार के जनविरोधी फैसलों से जनता में आक्रोश हैं और सडक़ों पर उतरने केलिए आतुर हैं। उन्होंने कहा कि पहले नोटबन्दी व जीएसटी फैसलों से आम जनता प्रभावित हुआ हैं और अब इस करोना संकट की महामारी के दौरान पेट्रोल व ड़ीजल के दामों में लगातार बृद्वि कर के आम जनता की कमर तोड़ दी है।