सावरकर विवाद पर उद्धव ठाकरे का बड़ा बयान, बोले- सरकार कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर चल रही, विचारधारा पर नहीं

08:31 PM Dec 15, 2019 |

मुंबई (उत्तम हिन्दू न्यूज): महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को सावरकार विवाद पर बड़ा बयान दिया। नागपुर में प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि हमारी सरकार न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर चल रही है, विचारधारा के आधार पर नहीं। उद्धव ने कहा कि वीर सावरकार पर हमारा रुख वही है, जो पहले था। ठाकरे ने नागरिकता कानून को महाराष्ट्र में लागू करने को लेकर भी अपनी बात रखी। ठाकरे ने कहा, "पहले सुप्रीम कोर्ट को इस पर निर्णय लेने दें, फिर हम अपना रुख स्पष्ट करेंगे।" वहीं, ठाकरे ने कहा कि नागरिकता कानून सावरकर के विचारों के खिलाफ है।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र विधानसभा के शीत कालीन सत्र का शुरूआत सोमवार से नागपूर मे हो रही है। तीन पार्टियो की मिली-जुली सरकार का ये पहला विधानसभा सत्र होगा। बीजेपी सारवरकर और किसानों के मुद्दे को लेकर आक्रामक है। ऐसे में सरकार को इन सवालो के जवाब देना बारी पड़ सकता है। 

वीर सावरकर के पोते रंजीत सावरकर राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि का केस दर्ज कराने की बात कही है। उन्होंने कहा कि शिवसेना नैतिकता और राजनीति में नैतिकता का चुनाव करे। रंजीत सावरकर ने कहा कि वो राहुल राहुल गांधी के बयान को लेकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से भी मिलेंगे। रंजीत सावरकर ने कहा है कि शिवसेना पॉलिटिक्स और एथिक्स में से एथिक्स को चुनें।