शिमला में महिला समेत दो लोगों ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

शिमला (ऊषा शर्मा): कोरोना संकट के बीच राज्य में आत्हत्याओं के मामले बढ़ रहे हैं। जिला शिमला में दो अलग-अलग घटनाओं में महिला और युवक ने फांसी लगाकर जान दे दी। शिमला शहर के ढली थाना क्षेत्र में 35 वर्षीय महिला ने ससुराल में फंदा लगाकर अपनी ईहलीला समाप्त कर दी। जानकारी अनुसार सोमवार देर शाम महिला का शव बाथरूम में फंदे पर लटका हुआ मिला। महिला की 14 वर्ष पहले शादी हुई थी। महिला को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में पुलिस ने महिला के पति को गिरफतार कर लिया है। मृतका के भाई की रिपोर्ट पर पुलिस ने यह कार्रवाई की है।

सोलन के कुमारहट्टी निवासी रोबिन ठाकुर ने शिकायत में कहा है कि उसकी बहन सुनीता का विवाह 14 वर्ष पहले जुन्गा निवासी सुनील के साथ हुआ था। सुनील उसकी बहन को तंग करता था। इस वजह से सुनीता ने आत्हत्या का कदम उठाया है। ढली पुलिस ने आईपीसी की धाराओं 498ए व 306 के तहत केस दर्ज कर पड़ताल शुरू कर दी है। दूसरा मामला अप्पर शिमला के जुब्बल थाना क्षेत्र का है, जहां 24 वर्षीय युवक ने पेड़ से फंदा लगाकर जान दे दी। मृतक की पहचान सोनू पुत्र गोपाल सिंह निवासी कोट क्याना के रूप में हई हैं पुलिस के मुताबिक सोनू का शव जुब्बल के घयान गांव में पेड़ पर प्लास्टिक की रस्सी के साथ लटका मिला।

जानकारी मिलते ही पुलिस दल मौके पर पहुंचा और शव को फंदे से उताकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पुलिस सूत्रों के अनुसार युवक काफी समय से मानसिक तनाव में था। पुलिस को घटनास्थल से सुसाइड नोट नहीं मिला है। जिला पुलिस अधीक्षक ओमा पति जंबाल ने मंगलवार को बताया कि शिमला शहर और जुब्बल में आत्महत्या के दो मामले सामने आए हैं। शवों का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है तथा पड़ताल जारी है।