ट्वीटों को भ्रामक बताए जाने को लेकर ट्रंप का ट्विटर पर पलटवार

वॉशिंगटन(उत्तम हिन्दू न्यूज): अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को ट्विटर पर निशाना साधा है और इसकी वजह है, ट्विटर द्वारा उनके दो ट्विटों को भ्रामक बताते हुए उन्हें मेल-इन वोटिंग में चिन्हित किया जाना। मंगलवार को ट्रंप द्वारा किए गए दो ट्वीटों को लेकर सवाल उठाया गया है। दावा किया गया है कि मेल-इन वोटिंग से धोखाधड़ी कुछ हद तक कम ही होगा और इससे चुनाव में भी धांधली कम होने की संभावना बनी रहेगी।

ऐसा पहली बार हुआ, जब ट्विटर द्वारा ट्रंप के ट्वीटों की सत्यता की जांच की गई है।

ट्रंप ने इस पर पलटवार करते हुए कहा, "ट्विटर अब साल 2020 में होने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में दखल दे रहा है। वे कह रहे हैं कि मेल-इन बैलट्स के बारे में मैंने जो बयान दिया है, उससे एक बड़े भ्रष्टाचार और फर्जीवाड़े की उत्पत्ति होगी। यह गलत है। यह फेक न्यूज सीएनएन और एमेजॉन वॉशिंगटन पोस्ट की फैक्ट चेकिंग पर आधारित है।"

टेकक्रंच को दिए एक बयान में ट्विटर के एक प्रवक्ता ने कहा कि राष्ट्रपति द्वारा किए गए दो ट्विटों में मतदान प्रक्रिया के बारे में संभावित भ्रामक जानकारी है और इसमें मेल-इन वोटिंग के संदर्भ में अतिरिक्त जानकारियां दी गई हैं।

उन्होंने आगे यह भी कहा, "ट्विटर पूरी तरह से हमारी स्वतंत्रता पर प्रहार कर रहा है। एक राष्ट्रपति के तौर पर मैं ऐसा करने की अनुमति नहीं दूंगा।"