+

‘मैं हिंदू हूं, नहीं बदला है धर्म’, साबित करने के लिए 200 KM दूर सुप्रीम कोर्ट तक पैदल चल पड़ा प्रवीण

नई दिल्‍ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): उत्तर प्रदेश एटीएस ने पिछले दिनों बहला फुसलाकर इस्‍लाम कबूल करवाने के आरोप में कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से पुलिस को कई लोगों के नाम
‘मैं हिंदू हूं, नहीं बदला है धर्म’, साबित करने के लिए 200 KM दूर सुप्रीम कोर्ट तक पैदल चल पड़ा प्रवीण

नई दिल्‍ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): उत्तर प्रदेश एटीएस ने पिछले दिनों बहला फुसलाकर इस्‍लाम कबूल करवाने के आरोप में कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से पुलिस को कई लोगों के नाम पता चले थे, जिनका इन लोगों ने कथित रूप से धर्मांतरण किया था। इसी सूची में पहले मेरठ के रहने वाले प्रवीण कुमार का भी नाम सामने आया था। हालांकि उनका दावा है कि उनका नाम गलत तरीके से आया था। अब यूपी एटीएस ने भी उन्‍हें क्‍लीनचिट दे दी है, लेकिन इसके बावजूद उन्‍हें सामाजिक बहिष्‍कार समेत अन्‍य खतरों का सामना करना पड़ रहा है। सच साबित करने के लिए वह सहारनपुर से 200 किमी पैदल चलकर सुप्रीम कोर्ट पहुंच रहे हैं। तेज बारिश और धूप की प्रवीण के मजबूत इरादों को नहीं रोक पा रही है। प्रवीण दिल्ली पहुंचने के लिए 200 किमी का सफर पैदल तय कर रहे हैं।

बुधवार शाम तक प्रवीण कुमार सहारनपुर से 32 किमी चलकर मुजफ्फरनगर के रोहाना टोल प्लाजा को पार कर चुके थे। रात को रेलवे स्टेशन पर सोने के बाद सुबह फिर से उन्होंने अपनी यात्रा शुरू कर दी। 11 दिनों में प्रवीण दिल्ली पहुंचेंगे। उन्होंने कहा कि वह सुप्रीम कोर्ट से अपना नाम धर्मांतरण मामले में क्लियर कराना चाहते हैं।

धर्मांतरण लिस्ट में प्रवीण का नाम सामने आने के बाद ही एटीएस की 10 दिनों की जांच के बाद ही उन्हें मामले में क्लीन चिट दे दी गई थी, लेकिन इसके बाद भी गांव के लोग उन्हें प्रताड़ित कर रहे हैं। उनके साथ अजीब सा बर्ताव किया जा रहा है। उन्हें गद्दार और आतंकी तक कहा जा रहा है। अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे प्रवीण कुमार ने सच साबित करने के लिए सहारनपुर से पैदल दिल्ली जाने का फैसला लिया है।

प्रवीण का कहना है कि एटीएस की क्लीन चिट के बाद भी उन्हें वो सम्मान नहीं मिल पा रहा है जो पहले उन्हें गांव में मिलता था। गांव के लोग अब भी उन्हें शक भरी नजरों से देखते हैं। इसीलिए वह 200 किमी पैदल चलकर सुप्रीम कोर्ट जा रहे है।जिससे अपनी सच्चाई वह साबित कर सकें।

Supreme Court: Latest news, Updates, Photos, Videos and more.

बता दें कि धर्मांतरण मामले में उमर गौतम और जहांगीर काजी की गिरफ्तारी के बाद बरामद की गई धर्मांतरण लिस्ट में प्रवीण का नाम सामने आया था। उसमें उनकी फोटो भी लगी हुई थी। जबकि प्रवीण का कहना था कि उन्होंने कभी धर्म बदला ही नहीं। वह हिंदू हैं। नाम मिलने पर एटीएस ने भी पिछले महीने ही जांच शुरू की थी। जांच के 10 दिनों में ही उन्हें एटीएस ने क्लीन चिट दे दी थी। एटीएस 23 जून को प्रवीण के घर पहुंची थी। जांच एजेंसी को पता चला था कि प्रवीण इस्लाम कबूल करने के बाद अब्दुल समद बन गए हैं। लेकिन उन्होंने इस बात से साफ इनकार कर दिया था।

शेयर करें
facebook twitter