भंवरी हत्याकांड में जेल में बंद नेताओं के बच्चों को टिकट

जयपुर (उत्तम हिन्दू न्यूज) : राजस्थान में सत्ता वापसी के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रही कांग्रेस हर तरह का पासा फेंक रही है और उसने भंवरी देवी हत्याकांड में जेल में बंद दो प्रमुख नेताओं के बेटे -बेटियों पर भी दांव आजमाया है। कांग्रेस विधानसभा की 200 में से अब तक 152 सीटों के लिये उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है। इनमें से 81 उम्मीदवारों को पार्टी ने दोबारा मैदान में उतारा है। घोषित उम्मीदवारों में सबसे रोचक नाम ओसिया से दिव्या मदेरणा ओर लूनी से महेंद्र विश्नोई के हैं।

दिव्या मदेरणा कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे परसराम मदेरणा की पोती औऱ महिपाल सिंह मदेरणा की बेटी हैं । वहीं महेंद्र विश्नोई राम सिंह विश्नोई के पोते औऱ मलखान सिंह विश्नोई के बेटे हैं। महिपाल सिंह और मलखान सिंह राज्य के बहुचर्चित भंवरी देवी हत्यकाण्ड में पिछले छह साल से भी अधिक समय से जेल में जेल में बद हैं। महिपाल मदेरणा ओसियां ओर भोपालगढ़ से विधायक और गहलोत मंत्रिमंडल में मंत्री रह चुके हैं। उनके पिता परसराम मदेरणा कांग्रेेेस के दिग्गज नेता रहे हैं वह नौ बार विधायक रहे औऱ कांग्रेस सरकारोें में मंत्री तथा एक बार विधानसभा के स्पीकर भी रहे।

महेंद्र विश्नोई के दादा रामसिंह विश्नोई भी कांग्रेस के प्रमुख नेता रहे हैं। उनके दो बेटों ओर बेटी इंद्रा विश्नोई को भंवरी देवी कांड में जेल में बंद किया गया था। भंवरी देवी की 2011 में अपहरण के बाद हत्या कर दी गयी थी।

Related Stories: