Saturday, September 22, 2018 05:35 AM

यही कारण है कि पुलिस भी नहीं ढूंढ पाती आपका चोरी हुआ स्मार्टफोन

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : मोबाइल फोन गुम हो या चोरी होने पर उसे ढूंढने में फोन का आईएमईआई नम्बर खास रोल अदा करता है। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि आईएमईआई नम्बर की मद से भी फोन ट्रेस नहीं हो पता। पुलिस भी आपके फोन की लोकेशन को ट्रेस नहीं कर पाती। लेकिन इसकी वजह है क्या ?

दरअसल चोर मोबाइल फोन के आईएमईआई नम्बर को बदलते हैं। यही एक बड़ी वजह है किचोरी हुआ स्मार्टफोन ट्रेस नहीं हो पता और चोर हैंडसेट को मार्केट में बेच देते हैं। यहां गौर करने वाली बात यह है कि एंड्राॅयड फोन्स का ही आईएमईआई नम्बर बदलता जा सकता है। लेकिन आईफोन्स का आईएमईआई नम्बर बदला नहीं जाता। यही कारण है कि आईफोन आसानी से ट्रेस हो जाता है। आईएमईआई नम्बर बदलने के लिए हैकर्स या एक्सपर्ट सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हैं।

चोरी के स्मार्टफोन को बेचने से पहले हैंडसेट को अनलॉक किया जाता है। इसके बाद  फोन को फ्लैशर कर ऑक्टोप्लस, वॉलकानो आदि सॉफ्टवेयर के जरिेए IMEI नंबर को बदल देते हैं। जानकारी के मुताबिक मोबाइल फोन का आईएमईआई नंबर बदलने में महज 500  से 1000 रुपए लगते हैं। 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।