हरियाणा के इस जिले ने पराली जलाने में सबको छोड़ा पीछे 

हिसार (उत्तम हिन्दू न्यूज): हरियाणा के फतेहाबाद जिले में धान की पराली जलाने के अब तक 1940 मामले सामने आ चुके हैं जो न केवल राज्य में सर्वाधिक हैं बल्कि इनमें से 1400 मामलों में सम्बंधित किसानों को कृषि विभाग की ओर से नोटिस भी जारी किए जा चुके हैं। कृषि विभाग के अनुसार फतेहाबाद जिले में 12 नवबर तक 1940 मामले धान की पराली जलाने के सामने आए हैं जबकि पड़ोसी जिले सिरसा में ऐसे 1300 मामले सामने आ चुके हैं। फतेहबाद में कृषि विभाग ने 1400 किसानों को अब तक धान की पराली जलाने को लेकर नोटिस जारी किये हैं। धान की पराली जलाने के सबसे अधिक मामले फतेहाबाद के टोहाना इलाके में सामने आ रहे हैं जो प्रदेश भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) अध्यक्ष एवं विधायक सुभाष बराला का विधानसभा क्षेत्र है।

टोहाना का जमालपुर शेखा गांव पराली जलाने के मामले में सबसे से आगे है। इस गांव में अब तक 62 मामले धान की पराली जलाने के सामने आए हैं। कृषि विभाग के जिला निदेशक बलवंत सहारण ने बताया कि पराली जलाने वाले 1400 किसानों को नोटिस दिया जा चुका है। इन किसानों ने अगर जुर्माना राशि नहीं भरी जाती तो इन पर एफआईआर दर्ज करने की कार्रवाई की जाएगी। जो किसान गत वर्ष भी पराली जलाने के मामले में दोषी थे उन पर भी विभाग की ओर से एफआईआर दर्ज कराने को लेकर कार्रवाई शुरू की जा चुकी है। गौरतलब है कि गत दिनों मुख्य सचिव की ओर से फतेहाबाद दौरे के दौरान पराली जलाने के मामले में फतेहाबाद के दो गांवों के सरपंचों और एक नम्बरदार को निलम्बित कर दिया गया था लेकिन फिर भी पराली जलाने के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं।
 

Related Stories: