देश के इस बड़े बैंक ने अपने ग्राहकों को तोहफा, ब्याज दरों में की कटौती- सस्ता होगा घर और गाड़ी खरीदना 

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : अनलॉक-1 शुरू होने के साथ ही कुछ अच्छी खबरें आपके लिए आने लगी हैं। हाल ही में 2 बड़े सरकारी बैंकों द्वारा ब्याज दरों में कटौती के बाद अब देश के दूसरे सबसे बड़े पंजाब नेशनल बैंक ने अपनी ब्याज दरों में कटौती का ऐलान किया है। पंजाब नेशनल बैंक ने ग्राहकों को बेहद कम ब्याज दरों में होम लोन और ऑटो लोन देगा। 

बैंक द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि बैंक ने केंद्रीय बैंक के निर्देशों का पालन करते हुए ब्याज दरों में कटौती की है।

बता दें कि पंजाब नेशनल बैंक ने कर्ज पर रेपो दर से जुड़ा ब्याज 0.40 प्रतिशत सस्ता करने की सोमवार को घोषणा की। अब यह ब्याज दर 7.05 प्रतिशत से कम होकर 6.65 प्रतिशत हो जाएगी। इससे पहले पिछले सप्ताह ने भी ब्याज दरों में कटौती की थी।

बैंक ने एक बयान में बताया कि इसके अलावा सभी परिपक्वता अवधि के कर्ज के लिये सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (एमसीएलआर) में 0.15 प्रतिशत कम की गयी है। बैंक ने बचत खातों पर ब्याज दर को भी 0.50 प्रतिशत घटाकर 3.25 प्रतिशत कर दिया है। बैंक ने कहा कि संशोधित दरें एक जुलाई से प्रभावी होगी।

वहीं आवास ऋण कंपनी एचडीएफसी ने ब्याज दरों में 0.15 प्रतिशत की कटौती की है। ऋण की लागत में आ रही कमी के बीच एचडीएफसी ने आवास ऋण पर ब्याज दरों में कटौती की है। देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) सहित कई अन्य ऋणदाताओं ने ब्जाज दरों में कटौती की है। कंपनी ने बयान में कहा, एचडीएफसी ने आवाास ऋण पर अपनी खुदरा प्रधान ऋण दर (आरपीएलआर) में 0.15 प्रतिशत की कटौती की है।

PNB ने घटाई ब्याज दर, ग्राहकों की EMI का बोझ होगा कम

बता दें कि देश के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक यूको बैंक ने होम लोन और कार लोन सस्ता कर दिया है। बैंक ने रेपो रेट आधारित कर्ज की ब्याज दर में 0.40 प्रतिशत कटौती कर इसे 6.90 प्रतिशत पर ला दिया है।  यह कटौती रिजर्व बैंक द्वारा हाल ही में रेपो दर में की गई कटौती का लाभ ग्राहकों को पहुंचाने वाला कदम है। 

वहीं सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ इंडिया ने शुक्रवार को अपने सभी अवधि के ऋणों पर कोष की सीमांत लागत आधारित ऋण ब्याज दर (एमसीएलआर) को एक जून से 0.25 प्रतिशत घटाने की घोषणा की। बैंक ने एक विज्ञप्ति में कहा कि इसके बाद उसके एक साल की अवधि के ऋण पर सालाना ब्याज दर घटकर 7.70 प्रतिशत रह जाएगी। अभी यह 7.95 प्रतिशत है।

इसी तरह छह महीने की अवधि वाले ऋण की ब्याज दर 7.60 प्रतिशत और मासिक ऋण की ब्याज दर 7.50 प्रतिशत होगी।  बैंक ने कहा कि उसने रिजर्व बैंक के रेपो दर से जुड़े ऋणों की ब्याज दर भी 0.40 प्रतिशत घटाकर 6.85 प्रतिशत कर दी है।