जंग-ए-आजादी का तीसरा चरण राष्ट्र को समर्पित

देश के युवाओं को प्रेरणा दे रहा है स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ा स्मारक : कैप्टन
सेलुलर जेल व जलियांवाला बाग को समर्पित है तीसरा चरण : डा. हमदर्द


जालंधर (अनिल डोगरा) : देश की स्वतंत्रता की 73वीं वर्षगांठ की पूर्व संध्या पर आज पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने जंग-ए-आजादी के तीसरे चरण को राष्ट्र को समर्पित किया। समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने देश के युवाओं को अपने गौरवमयी इतिहास से जुडऩे की अपील की और कहा कि यह स्मारक देशवासियों के लिए प्रेरणापुंज बना हुआ है। उन्होंने बताया कि 290 करोड़ की लागत से बने इसके दो चरणों को पहले ही राष्ट्र को समर्पित किया जा चुका था और अब तीसरे चरण का लोकार्पण करते हुए उन्हें गौरव महसूस हो रहा है। उन्होंने समारोह में मौजूद पर्यटन व सांस्कृतिक मामलों के मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से कहा कि वे स्कूल-कालेजों के विद्यार्थियों का यहां आना सुनिश्चित करें ताकि वे अपने देश के इतिहास से जीवंत रूप से परिचित हो सकें।



आए हुए मेहमानों का स्वागत करते हुए अजीत प्रकाशन समूह के मुख्य संपादक व जंग-ए-आजादी स्मारक के चेयरमैन डा. बरजिंदर सिंह हमदर्द ने बताया कि स्मारक का तीसरा चरण सेलुलर जेल व जलियांवाला बाग के शहीदों व क्रांतिकारियों को समर्पित है। उन्होंने बताया कि यह स्मारक देशभक्त लोगों के लिए तीर्थस्थान के रूप में विकसित हो रहा है। डा. हमदर्द ने जानकारी दी कि अभी तक 6.5 लाख लोग इस स्मारक का भ्रमण कर चुके हैं जिनमें 91000 विद्यार्थी शामिल हैं। पर्यटन व सांस्कृति मामलों के मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने स्मारक में सहयोग देने पर मुख्यमंत्री का आभार जताया और विश्वास व्यक्त किया कि इससे राज्य में पर्यटन को प्रोत्साहन मिलेगा।



समारोह में सांसद चौधरी संतोख सिंह, मार्कफेड के चेयरमैन अमरजीत सिंह समरा, दैनिक उत्तम हिन्दू के मुख्य संपादक श्री इरविन खन्ना, लवली ग्रुप के चेयरमैन श्री रमेश मित्तल, विधायक परगट सिंह, सुशील रिंकू, चौधरी सुरिंद्र सिंह, राजिंद्र बेरी, अवतार हैनरी, हरदेव सिंह लाडी, पनसप के चेयरमैन तेजिंद्र सिंह बिट्टू, महापौर जगदीश राज राजा, इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के चेयरमैन दलजीत सिंह अहलूवालिया के अतिरिक्त उच्च प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद थे।