कामकाज के घंटे बढ़ाने के फैसले को वापस लेने का स्वागत किया मजदूरों ने

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): मजदूर संगठन ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस ने कारखानों तथा कार्यस्थलों पर कामकाज के घंटे आठ से बढ़ाकर 12 करने के फैसले को वापस लेने के राजस्थान सरकार के कदम का स्वागत किया है।संगठन की महासचिव अमरजीत कौर ने सोमवार यहां एक बयान में कहा कि राजस्थान सरकार का यह कदम सराहनीय है। इससे मजदूरों के हितों की रक्षा हो सकेगी और उनका शोषण नहीं होगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश सरकारों को भी मजदूर हितों का संरक्षण करते हुए संबंधित कानूनों को कमजोर करने की मुहिम छोड़ देनी चाहिए। 

राज्य सरकारों ने जिन श्रम कानूनों को कमजोर करने के कदम उठाए हैं , उन्हें उनके मूल स्वरूप में बहाल करना चाहिए। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के कारण कामगारों की मजदूरी और वेतन पर संकट आ गया है। राज्य सरकारों को ऐसे कदम उठाने चाहिए कि मजदूरों का मेहनताना उन्हें मिल सके।

राजस्थान सरकार ने 11 अप्रैल को राज्य में कारखानों में मजदूरों की कामकाज की अवधि 8 घंटे से बढाकर 12 घंटे करने का आदेश जारी किया था , जिसका मजदूर संगठनों ने भारी विरोध किया था और कहा था कि इससे मजदूरों का शोषण होगा।