भारत की वो रहस्यमयी पहाड़ी जहां बिना ईंधन के चलती हैं गाड़ियां

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): क्या आपने बिना ईंधन के गाड़ियों को चलते देखा है? नहीं ना। आज हम आपको भारत के ऐसी रहस्यमयी पहाड़ी के बारे में बताने जा रहे है जहां गाड़ियां अपने आप चलती है। अगर कोई रात को अपनी गाड़ी एक जगह खड़ी कर दें तो सुबह वह अपनी जगह पर नहीं मिलेगी। ये पहाड़ी लद्दाख के लेह क्षेत्र में स्थित है। 

चुंबकीय पहाड़ी, लद्दाख

गाड़ियों का एक जगह से दूसरी जगह अपने आप पहुंच जाना अभी तक रहस्य ही बना हुआ है। वैज्ञानिकों का मानना है कि इस पहाड़ी में चुंबकीय शक्ति है, जो गाड़ियों को करीब 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से अपनी ओर खींच लेती है। इसीलिए इसे 'मैग्नेटिक हिल' कहा जाता है। इस मैग्नेटिक हिल को 'ग्रैविटी हिल' के नाम से भी जाना जाता है। माना जाता है कि इस पहाड़ी पर गुरुत्वाकर्षण का नियम फेल हो जाता है। 

Image result for Magnetic hill

गुरुत्वाकर्षण के नियम के अनुसार, अगर हम किसी वस्तु को ढलान पर छोड़ दें तो वह नीचे की तरफ लुढ़केगी, लेकिन चुंबकीय पहाड़ी पर ऐसा नही होता। यहां हम किसी कार को अगर गियर में डालकर छोड़ दें तो कार ढलान पर नीचे की ओर न जाकर ऊपर की ओर चढ़ती है। यहां पर किसी तरल पदार्थ को भी बहाने पर वह नीचे की तरफ न जाकर ऊपर की तरफ बहता है। 

इस पहाड़ी के ऊपर से उड़ान भर चुके कई पायलटों का दावा है कि यहां उड़ान भरते समय हवाई जहाज में कई झटके महसूस होते हैं। हवाई जहाज को पहाड़ी की चुंबकीय शक्ति से बचाने के लिए जहाज की रफ्तार बढ़ा दी जाती है।