सोहराबुद्दीन एनकाउंटर के मुख्य गवाह को जान का खतरा, पत्नी ने दाखिल की याचिका

उदयपुर (उत्तम हिन्दू न्यूज) : सोहराबुद्दीन एनकाउंटर के मुख्य गवाह मोहम्मद आजम खान की पत्नी रिजवाना ने बड़ा आरोप लगाया है। उसने दावा किया है कि उसके पति की जेल में हत्या हो सकती है। रिजवाना ने हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल की है जिसमें उसने इसकी आशंका व्यक्त की है। अपनी याचिका में रिजवाना ने कहा है कि उसके पति की जान को खतरा है। याचिका में रिजवाना ने उसके पति को उदयपुर जेल में ही रखे जाने की अपील की है। सोमवार को राजस्थान हाईकोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई की।

मोहम्मद आजम खान की पत्नी रिजवाना ने कोर्ट से कहा कि उसके पति सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले में मुख्य गवाह हैं। उनकी जान को खतरा है, लिहाजा उन्हें किसी और जेल में शिफ्ट ना किया जाए बल्कि उदयपुर जेल में ही रखा जाए। रिजवाना को उदयपुर पुलिस पर भरोसा नहीं है। रिजवाना ने बताया कि उसे भी धमकी दी जा रही है। रिजवाना की अपील के बाद सरकारी वकील विक्रमसिंह ने हाई कोर्ट को बताया कि मोहम्मद आजम खान को अजमेर सेंट्रल जेल में शिफ्ट किया जाना था लेकिन फिलहाल यह कार्रवाई रोक दी गई है। अभी उसे उदयपुर सेंट्रल जेल में ही रखा जाएगा।

हालांकि सरकारी वकील ने कहा कि उदयपुर जेल में आजम खान की जान को खतरा है क्योंकि उसे वहां अकेले रखने का इंतजाम नहीं है। जेल में कैदियों की तादाद भी ज्यादा है। यही नहीं कुख्यात बदमाश इमरान और उसके गैंग के लोग उदयपुर जेल में ही बंद हैं। ऐसे में आजम खान के लिए खतरा बना हुआ है। इस मामले की सुनवाई के बाद जस्टिस पीएस भाटी ने मामले को अगली सुनवाई के लिए टाल दिया। अब इसकी अगली सुनवाई 6 सप्ताह बाद होगी।