ताल में 1 करोड़ से बनेगा प्रदेश का पहला बीटल गॉट : वीरेंद्र कंवर

शिमला (जेमी शर्मा) - पशुपालन विभाग को स्वतन्त्र मंत्रालय घोषित किया जाना निश्चित तौर पर किसानों की आय को दोगुना करने तथा पशुपालकों के विकास के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा उठाया गया कड़ा पग है, जो आने वाले समय में एक मील पत्थर साबित होगा। यह विचार ग्रामीण विकास, पंचायती राज एवं पशुपालन एवं मत्स्य पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने आज होटल हॉलीडे होम में आयोजित राष्ट्रीय गोकुल मिशन के अंतर्गत एक दिवसीय राज्य स्तरीय संगोष्ठी कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए अपने संबोधन में व्यक्त किए।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के निर्णय को अमलीजामा पहनाने के लिए प्रदेश में सभी विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों को सक्रिय सतत प्रयास करने होंगे, ताकि पशुपालकों को इसका लाभ प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय गोकुल मिशन के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा 20 करोड़ 11 लाख रुपए की राशि पशु पालन विभाग को गौ संरक्षण व संवद्र्धन तथा गव्य गतिविधियों एवं नस्लों के विकास के लिए स्वीकृत की गई है। 

वीरेंद्र कंवर ने कहा कि इस योजना के तहत भू्रण प्रत्यारोपण प्रयोगशाला पालमपुर में लालसिंधी, साहिवाल नस्ल की गायों में भ्रूण प्रत्यारोपण तकनीक पर कार्य आरंभ करने के लिए एक करोड़ 95 लाख रुपए की राशि गोकुल ग्राम की स्थापना के लिए नौ करोड़ 95 लाख रुपए तथा मुराहा भैंस प्रजनन फार्म स्थापित करने के लिए पांच करोड़ 6 लाख रुपये तथा वीर्य केंद्र आदोवाल के उन्नयन के लिए दो करोड़ 15 लाख रुपए स्वीकृत किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पहला बीटल गॉट फार्म हमीरपुर के ताल क्षेत्र में एक करोड़ रुपए की लागत से स्थापित किया जा रहा है। 

उन्होंने आज विभागीय योजनाओं और कार्यों की समीक्षा भी की। उन्होंने अधिकारियों को विभागीय गतिविधियों को सुचारू व समयबद्ध रूप से समन्वय स्थापित कर पूरा करने के निर्देश दिए, ताकि पशुपालक विभागीय योजनाओं का लाभ उठाकर अपनी आर्थिकी को और अधिक सुदृढ़ बनाने में सक्षम हो सकें।