महिला पोर्नस्टार ने बताई सच्चाई, कहा-हर घंटे खानी पड़ती है ये दवाइयां

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : पोर्न फिल्म करना आसान नहीं है। बेहद नीजि संबंधों को सार्वजनिक करना कितना कठिन होता है इसका खुलासा 35 वर्षीय एक ऑस्ट्रेलियाई पोर्न स्टार ने किया है। मसलन इन दिनों  एक पोर्न स्टार की कहानी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें उसने अडल्ट फिल्मों के काले सच से लोगों को रूबरू कराया। 35 साल की ऑस्ट्रेलियन पोर्न स्टार मैडिसन मिसिना का कहना कि आपको देखने में जैसा लगता है, पोर्न मूवीज की सच्चाई उससे बिल्कुल उलट होती हैं। सच कहा जाए तो इन फिल्मों में सिर्फ  औरतों के शरीर का शोषण किया जाता है।

मैडिसन ने कहा कि दो लोगों के बीच सबसे निजी संबंधों को इस तरह कैमरे के सामने पेश करना आसाना नहीं होता। उन्होंने कहा कि इस काम के लिए महिलाओं को कई प्रकार की दवा खानी होती है। मैडिसन ने तो यहां तक कहा कि हमारे मेल पाटरन नशे में होते हैं और हमें भी इसी प्रकार की प्रतिक्रिया देनी होती है। हम एक तरह से मशीन की तरह काम करते हैं, ये अनुभव अकल्पनीय होता है। कई बार बेहद दर्दनाक दौर से भी गुजरना होता है लेकिन हम काम को बीच में रोक नहीं सकते। 

18 साल से पोर्न इंडस्ट्री में 200 से ज्यादा फिल्मों में काम कर चुकी मैडिसन ने आगे कहा, कैमरे को सही शॉट देने के चक्कर में हम अपने शरीर का कुछ ज्यादा इस्तेमाल कर बैठते हैं, जो हमें बहुत तकलीफ देता है, लिहाजा सही शॉट लेने के लिए हमें कई बार अन-नेचुरल शॉट भी देने पड़ते हैं। इसकी वजह से बेहद दर्द होता है। उन्होंने कहा कि हमे ऐसा करना पड़ता है।

साथ ही हमारे अंडाशय और गर्भाशय पर इसका बहुत बुरा असर होता है। कई बार किसी पोर्न स्टार को गर्भाशय में गांठ होती है तो शूटिंग के दौरान फूट जाती है। ऐसे में अगर दर्द भी हो रहा होता है, तो कट नहीं किया जा सकता क्योंकि मूवी में लंबे सीन शूट किए जाते हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी फिल्म की शूटिंग से पहले प्रस्तावित स्क्रिप्ट के हिसाब से फोटोग्राफी की जाती है, जिससे शूट किए जाने वाले सीन हमें याद हो जाएं। फोटोग्राफी के कई घंटों के बाद हम असली शूट कि लिए तैयार होते हैं, जो सुबह से शाम तक चलता है।

मैडिसन ने अपने अनुभव बताते हुए कहा। एक गर्ल पोर्नस्‍टार को सुबह 9 बजे उठना पड़ता है। और घर से तैयार होकर 10 से 11 बजे तक स्टूडियो पहुंचना होता है। वहां कागजी कार्रवई के बाद 1 घंटे तक हेयर और मेकअप में टाइम लग जाता है। 12 बजते ही सोलो फोटोग्राफी होती है और पोर्न स्टार को सबके सामने अंग प्रदर्शन करना होता है। उस दौरान स्टूडियो में क्रू समेत दो दर्जन से ज्यादा लोग होते हैं। फोटोग्राफी होने तक मेल अडल्ट स्टार शूटिंग के लिए पहुंच जाता है, फिर 2 घंटे तक मूवी शूट की जाती है। कई बार सही सीन नहीं मिलने पर बार-बार दोहराया जाता है। ऐसे में कई बार शाम हो जाती है। शूट खत्म होने के बाद दोबारा फोटोग्राफी करके दिन का काम खत्म होता है।

अडल्ट स्टार ने कहा कि हर पोर्न मूवी में अडल्ट स्टार्स तरह-तरह की दवाईयां खाते हैं। कुछ स्टार्स दर्द की दवा खाते हैं, तो ज्यादातर मेल स्टार्स वियाग्रा जैसी दवा लेते हैं। कुछ कॉन्फिडेंस के लिए हमेशा नशे में रहते हैं। अडल्ट स्टार्स को हर 10वें दिन मेडिकल टेस्ट कराने होते हैं। इनमें एचआईवी और सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिसीज को लेकर बार-बार टेस्ट किए जाते हैं। अगले एनओसी के बाद ही कोई भी स्टार अगला शूट कर पाता है।