देश का सबसे बड़ा सीरियल किलर, हत्या के बाद कोई सबूत नहीं छोड़ता था यह शख्स 

भोपाल (उत्तम हिन्दू न्यज) : सीरियल किलरों के बारे में बहुत सुना होगा लेकिन यह किलर अपने आप में अगल है। मसलन सीरियल किलर, आदेश खामरा ने पुलिस की पूछताछ में अब तक 30 हत्याओं का जुर्म कबूल कर चुका है लेकिन इसके बारे में यह बताया जा रहा है कि इसने कितनी हत्याएं की है इसका कोई लेखा-जोखा इसके पास भी नहीं है। कबूल किए गए मामलों में 22 मामले तो ऐसे थे, जिन्हें पुलिस अब तक सुलझा ही नहीं पाई थी। पुलिस का कहना है कि उसे फिलहाल याद ही नहीं है कि उसने अब तक कितने लोगों को मौत के घाट उतारा है। अभी आरोपी से पूछताछ चल रही है। 

पुलिस की पूछताछ में आरोपी आदेश खामरा ने कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। उसका कहना है कि हर कत्ल के बदले उसे महज 25 से 30 हजार रुपये मिलते थे। कभी-कभी तो वो इससे भी कम की सुपारी लेकर हत्याएं कर देता था। उसने एक ही दिन की पूछताछ में 16 हत्याओं की बात कबूल की है। इनमें 8 मामलों में वो जेल की सजा भी काट चुका है। पुलिस के सामने इस सीरियल किलर का रूआब भी देखने लायक था। पूछताछ से पहले उसने पुलिस के सामने ही हाथों पर खैनी लेकर रगड़ी, खाया, फिर बोला अब लिखो सब बताता हूं कैसे मारा। उसके इस अंदाज को देखकर पुलिस वाले भी हक्के-बक्के रह गए। उसने घूर रहे एक पुलिसकर्मी को भी अपने अंदाज में कहा 'घूरो मत, को-ऑपरेट करो'। 

जब उसने हत्याओं के बारे में बताना शुरू किया तो पुलिस के भी होश उड़ गए। उसने बताया कि रायपुर के राजनांदगांव के पास तीन ड्राइवर-क्लीनर की उसने हत्या की थी। इनलोगों का शव जंगल में अलग-अलग जगहों से पुलिस ने बरामद किया था। साथ ही बेमतरा के पास पुलिया के नीचे एक और बिलासपुर के पास नदी में भी पुलिस को एक शव मिला था। पूछताछ में उसने पांचों की हत्या की बात कबूल कर ली। 

पुलिस ने बताया कि वह किसी भी हत्या के बारे में तभी बता रहा है, जब उससे जुड़े सवाल उससे पूछे जा रहे हैं। पुलिस का दावा है कि उसने देशभर में कई हत्याओं को अंजाम दिया है, जिसका खुलासा होना अभी बाकी है। देशभर की पुलिस को उसके पकड़े जाने की सूचना भेज दी गई है। पुलिस के मुताबिक, वो बड़ी ही सफाई के साथ हत्याएं करता था, जिसका न कोई सबूत मिलता था और न ही कोई गवाह। यहां तक की उसने पूछताछ में भी पुलिस से कहा कि आपलोग चाहें तो मेरी पूरी सीडीआर देख लें। कत्ल वाली जगह पर मेरी लोकेशन नहीं मिलेगी। जब पुलिस ने थोड़ी सख्ती बरती तो उसने कहा कि साहब, मेरे दिमाग में बहुत बोझ बढ़ गया है, मैं हल्का होना चाहता हूं। लिखो, मैं सब बताता हूं।

साल 2013 में होशंगाबाद में उसने बुजुर्ग दंपती और उसके बेटे की हत्या कर दी थी। पहले उसने बुजुर्ग दंपती की हत्या कर उनका शव उन्हीं के खेत में लगे आम के पेड़ पर फंदे से लटका दिया था। जब मामले में एक कॉन्ट्रेक्टर शक के घेरे में आया तो उसने सीरियल किलर आदेश खामरा को 25 हजार रुपये की सुपारी देकर बुजुर्ग दंपती के बेटे की हत्या करा दी। इस मामले में पुलिस ने केस भी दर्ज किया था लेकिन पुलिस आरोपी का पता नहीं लगा पाई। दरअसल, वो इतनी सफाई से लोगों की हत्याएं करता था कि पुलिस को लगता था कि वो आत्महत्या है और मामले को वहीं पर बंद कर दिया जाता था।

  

पुलिस ने आदेश खामरा के बयान पर उस कॉन्ट्रेक्टर को भी गिरफ्तार कर लिया है, जिसने हत्या की सुपारी दी थी। फिलहाल पुलिस देशभर में इसी प्रकार की कई हत्याओं के बारे में अनुशंधान कर रही है। पुलिस का कहना है कि उसने देशभर की पुलिस से संपर्क किया है और कई स्थानों से फाइल मगवा रही है। पुलिस को इस बात की आशंका है कि आदेश देशभर में कई इस प्रकार की हत्याओं में शामिल हो सकता है। हालांकि इसने अभीतक अपने किसी साथी का नाम तो नहीं बताया है लेकिन पुलिस को शक है कि आदेश यह काम अपने गिरोह के साथ किया होगा या फिर जहां यह हत्या करता होगा वहां इसके साथी मिल जाते होंगे। 

Related Stories: