हैरतअंगेजः 4 साल पहले मरी बेटी से मां को मिलवाया. पढ़ें विज्ञान का अनूठा चमत्कार

02:44 PM Feb 13, 2020 |

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): इसे आप हैरतअंगेज कहेंगे या फिर डरावना अथवा अविश्वसनीय... कुछ भी कहें लेकिन यह एक बेहद अनूठा मामला है। कोरिया में हाल ही में एक मां अपनी 7 साल की बेटी से मिली, जो चार साल पहले ही मर चुकी थी। 'मीटिंग यू' नाम के एक कोरियन टीवी शो में इन दोनों मां-बेटी का मिलन हुआ। यह सब आज की एडवांस्ड वैज्ञानिक टेक्नोलॉजी के जरिये संभव हो पाया है। हैरतअंगेज तरीके से इस टीवी शो पर मां और मृत बेटी दोनों ने एक दूसरे को छुआ, बातें कीं। साथ में खेले। मां ने बेटी को खूब प्यार किया। मृत बेटी ने मां से ये वादा भी किया कि वह फिर मिलने आएगी क्योंकि अब उसे उस बीमारी की वजह से कोई दर्द नहीं है, जिससे उसकी मौत हुई थी।

इस कोरियन मां का नाम है जांग-जी-सुंग और बेटी का नाम है नेइयॉन। इन दोनों की मुलाकात टीवी शो पर वर्चुअल रियलटी (Virtual Reality) के जरिए हुई। मां ने अपनी मृत बेटी से इसी वैज्ञानिक तकनीक के जरिए बातचीत की। उसे छुआ। प्यार किया. बातें की और उसके साथ खूब खेली।

वर्चुअल रियलटी के जरिए जांग-जी-सुंग की बेटी नेइयॉन का पूरा शरीर फिर से गढ़ा गया। उसकी आवाज डाली गई। उसे एकदम वैसा ही बनाया गया जैसा वह असल में दिखती थी। यह 7डी टेक्नोलॉजी होती है, जिसमें आप किसी असल जैसा महसूस कर सकते हैं। टीवी शो पर जब मां जांग-जी-सुंग से पूछा गया कि आप अपनी बेटी को याद करती हैं. तो उन्होंने कहा कि हां, हमेशा याद करती हूं। इसके बाद मृत बेटी नेइयॉन ने कहा कि मां मैं भी आपको बहुत याद करती हूं।

जांग-जी-सुंग ने जैसे ही अपनी बेटी को पकड़ा, उनकी आंखों से तेजी से आंसू बहने लगे। वो बेतहाशा रो रही थीं और अपनी बेटी को प्यार कर रही थीं। ऑडियंस में बैठे नेइयॉन के पापा, भाई और बहन भी इस पूरे नजारे को देखकर रो रहे थे। यूनिवर्सिटी ऑफ ससेक्स के प्रोफेसर ब्ले व्हिटबी ने कहा कि हमें नहीं पता कि मां-बेटी के इस मुलाकात का मां पर क्या मनोवैज्ञानिक असर पड़ेगा। वे और ज्यादा अपनी बच्ची को मिस कर सकती हैं या फिर एकदम खुश हो सकती हैं अपनी इस मुलाकात से।

सबसे बड़ी चिंता की बात ये है कि क्या किसी मरे हुए व्यक्ति को उसके परिजनों से मिलवाना नैतिकता के आधार पर सही है या नहीं। अब पूरी दुनिया में इस पर चर्चा हो रही है। एक मुद्दा यह भी है कि मृत बेटी के इस वर्चुअल रियलिटी अवतार को कौन नियंत्रित कर रहा था। इसे कौन चला रहा था। अगर यह कहीं तकनीकी रूप से गड़बड़ हुआ तो जो व्यक्ति उससे मिलने आया है उसकी मानसिक स्थिति कैसी होगी।