भूकंप आने पर पट्रोल टैंक में रिसाव होने के बाद अचानक लगी आग

01:18 PM Feb 20, 2020 |

अम्बाला (राजेन्द्र भारद्वाज): जिला प्रशासन और आईओसीएल के सहयोग से जिला स्तरीय ऑफ साइट मॉक ड्रिल का आयोजन बुधवार को इंडियन ऑयल कारपोरेशन के परिसर में किया गया। मॉक ड्रिल के दौरान भूकम्प की स्थिति उत्पन्न होने पर आगजनी से कैसे निपटा जा सके इस बारे में मॉक ड्रिल की विभिन्न प्रक्रियाओं का प्रयोग करके स्थिति पर नियंत्रण पाया जा सकता है उसका प्रदर्शन दिखाया गया। मॉक ड्रिल के दौरान एसडीएम अम्बाला छावनी और जिले के अन्य प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर उपस्थित रहे। आईओसीएल के परिसर में आयोजित मॉक ड्रिल के दौरान भूकम्प आने पर परिसर में स्थापित पट्रोल के टैंक में रिसाव होने के बाद अचानक उसमें आग लग जाती है और कुछ ही क्षणों में आग भयंकर रूप धारण कर लेती है।

ऐसी स्थिति से निपटने के लिए उपस्थित सिक्योरिटी स्टाफ तुरंत सायरन बजाकर इस घटना से सचेत रहने बारे जागरूक करने का काम करता है और यह सायरन 4 किलोमीटर की परिधि में इसकी आवाज सुनाई देती है। सायरन की आवाज सुनते ही आईओसीएल की सभी विंगो में तैनात कर्मचारी सर्तक हो जाते है और वह अपने-अपने मोर्चे को संभाल लेते हैं। पट्रोल की इस आग पर काबू पाने के लिए अग्निशमन यंत्र के माध्यम से आग पर फोम का प्रयोग किया जाता है। इसके साथ-साथ अन्य आस पास स्थापित टैंको पर पानी का छिडक़ाव भी किया जाता है ताकि वे आग की चपेट में न आएं।