Tuesday, February 19, 2019 06:02 AM

हड़ताली बहुउद्देश्यीय कर्मचारियों पर एस्मा के तहत मुकद्दमा दर्ज 

अम्बाला (राजेन्द्र भारद्वाज) : सरकार द्वारा एस्मा लगाने के बाद भी बहुउद्देशीय कर्मचारियों की हड़ताल जारी है। हालांकि बीती रात अम्बाला में विभिन्न धाराओं के तहत सिविल सर्जन डॉ.  अशोक शर्मा की शिकायत पर राजेश कुमार, राजबीर सिंह, प्रमोद बाला, चंद्ररेखा, गीता रानी, पाल कौर, कांता के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। लेकिन आज भी अपनी मांगों को लेकर बहुउदेदशीय कर्मचारी धरने पर बैठे हैं। सरकार चाहे जो भी कर ले वह सरकार के आगे झुकने वाले नहीं हैं। सिविल सर्जन ने पुलिस में शिकायत देते हुए कहा था कि 27 अगस्त से उक्त कर्मचारी अनिश्चिकालीन हड़ताल चल रही है। 29 अगस्त से सरकार ने एस्मा लगाया लेकिन इसके बाद भी कर्मचारी धरना प्रदर्शन कर रहे हैं।

सिविल सर्जन ने इस संबंध में मिशन निर्देशक एनएचएम पंचकूला, महानिर्देशक स्वास्थ्य सेवाएं हरियाणा और पुलिस अधीक्षक अम्बाला को सूचित किया जिसमें स्पष्ट कहा गया कि रमेश कुमार एमपीएचएस उप सिविल सर्जन अम्बाला रेग्लुर, उप सिविल सर्जन महावीर सिंह अम्बाला, मुलाना सीएचसी की प्रमोद बाला, शहजादपुर सीएचसी की रेखा, नूरपुर पीएचसी की गीता रानी, पतरेहड़ी की पाल कौर व कांता रानी ने नियमों का उल्लंघन किया है। पुलिस ने एस्मा सहित विभिन्न धाराओं के तहत आरोपियों पर मुकदमा दर्ज किया। वहीं यह भी पता लगा है कि यमुनानगर में अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर बैठे 9 बहुउद्देश्यीय कर्मचारियों के एस्मा के तहत बड़ी कार्रवाई सामने आई है, जिसके चलते 9 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है, जसमें 6 महिलाएं और 3 पुरुष कर्मचारी है।

उनमें से तीन को गिरफ्तार कर लिया गया है। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि यदि कर्मचारी काम पर नहीं लौटे तो उनके खिलाफ सख्त कारवाई की जाएगी। वहीं बहुउद्देशीय कर्मचारियों का कहना है कि सरकार दोहरी नीति अपनाए हुए है।

देश की सबसे बड़ी और तेज WhatsApp News Service से जुड़ने के लिए हमारे नंब 7400043000 पर Missed Call दें। इस नंबर को Save करना मत भूलें।