दोहरा खेल खेलना छोड़ कैप्टन किसानों की सभी शिकायतों का जल्द करवाएं समाधान : सुखबीर बादल

प्रधानमंत्री से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सुनिश्चित सरकारी खरीद पर गारंटी देने को कहा
फिरोजपुर/चंडीगढ़ (विज):
शिरोमणी अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने आज प्रधानमंत्री मोदी से पंजाब की मंडीकरण प्रणाली की सुरक्षा सुनिश्चित करने के अलावा किसानों की भावनाओं को समझने को कहा तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर सरकारी खरीद का आश्वासन दें। 

यहां शिरोमणी अकाली दल के 100वें शताब्दी समारोह के कार्यक्रमों के सिलसिले में गुरुहरसहाय, फिरोजपुर ग्रामीण और जीरा का दौरा करने के बाद पूर्व मंत्री जनमेजा सिंह सेखों के आवास पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को दोहरा खेल नहीं खेलना चाहिए तथा सामने से नेतृत्व करना चाहिए और किसानों की सभी शिकायतों का जल्द से जल्द समाधान करवाना चाहिए। शिरोमणी अकाली दल के अध्यक्ष ने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि मुख्यमंत्री केंद्र के साथ एक निश्चित मैच खेल रहे हैं। 

कैप्टन अमरिंदर सिंह केंद्र द्वारा उन्हें सौंपी गई स्क्रिप्ट के अनुसार खेल रहे हैं। यही कारण है कि उन्होंने अब किसानों से संपर्क किया है तथा केंद्र के अनुसार राज्य में रेलवे की संपत्ति खाली करवाने के लिए पहुंच कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री निश्चित रूप से जानते हैं कि किसान संगठनों ने दो सप्ताह से अधिक समय पहले 'रेल रोकोÓ आंदोलन को हटा लिया था। उन्हें केंद्र पर दबाव बनाना चाहिए न कि किसानों के पास उन्हें रेलवे स्टेशनों के करीब न बैठने को कहने की बजाय पंजाब के लिए रेल सेवाएं फिर से शुरू करवानी चाहिए। केंद्र को भी चाहिए कि वह पंजाबियों को आंदोलनकारी किसानों के साथ खड़े रहने के लिए प्रताडि़त न करे और लोगों की भावनाओं को समझे और उनकी सभी शिकायतों का समाधान करे। 

बादल ने जोर देकर कहा कि पंजाब के किसानों के साथ एकजुटता के सैद्धांतिक रूख अपनाने के बाद शिरोमणी अकाली दल एनडीए से अलग हो गया। ' हम किसानों के साथ खड़े रहेंगे और हर संभव तरीके से उनके आंदोलन में सहायता करेंगेÓ। जब उनसे सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि पंजाबियों को एहसास हो गया है कि कांग्रेस सरकार लोगों से किए गए किसी भी वायदे को पूरा नहीं कर सकी और अकेले शिरोमणी अकाली दल ही लोगों के अधिकारों के लिए खड़े होने और लडऩे के अलावा विकास प्रदान कर सकती है। इस अवसर पर जोगिंदर सिंह जिंदू, वरदेव सिंह मान, अवतार सिंह जीरा, मोंटी वोहरा तथा सुरिंदर सिंह बब्बू सहित अन्य उपस्थित थे।