पंचकूला में बनेगा स्टेट ऑफ आर्ट पार्क

सेक्टर 23 में 24 एकड़ भूमि चिह्नित, 6 एकड़ में बनेगा मैरिज पैलेस, 18 एकड़ में विश्व स्तरीय पार्क

ज्ञान चंद गुप्ता बोले- पंचकूला आने वाला हर श स इसे जरूर देखेगा

पंचकूला/अग्निहोत्री: पंचकूला में ऐसा पार्क विकसित होने जा रहा है जो न सिर्फ भारत बल्कि विश्व स्तर पर सुंदरता और विशिष्टता के लिए जाना जाएगा। पार्क के अंदर ध्यान की गहराइयों में उतारने वाला मेडिटेशन गार्डन होगा तो एडवेंचर की सैर कराता संकन गार्डन अपनी गहराई के लिए वि यात होगा। इसमें ऐसा टोपेरी गार्डन भी होगा जो अभी तक किसी भी देश में नहीं है। यहां विकसित होने वाला सस्पेंस फाउंटेन किसी भी आयु वर्ग के लोगों के लिए कोतूहल का विषय रहेगा। पार्क में स्थापित किया जा रहा भूलभुलैया पंचकूला में पर्यटन का केंद्र बन सकता है। प्रदेश सरकार ने इसे विकसित करने की जि मेदारी टाउन एंड कंटरी प्लानिंग विभाग को सौंपी है। पार्क की विस्तृत योजना बनाने के लिए हरियाणा विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने बुधवार को विभाग के प्रधान सचिव अपूर्व कुमार सिंह समेत वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में लैंडस्केपिंग एवं बागवानी विशेषज्ञ डॉ. सतीश नरूला ने 'स्टेट ऑफ आर्ट पार्कÓ पर प्रस्तुति दी। हरियाणा विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने पंचकूला को देश का सुदंरतम शहर बनाने के लिए कमर कस ली है। उनका सपना है कि यहां ऐसा पार्क विकसित हो जिसे पंचकूला आने वाला हर श स देखने के लिए जाए। इसके लिए उन्होंने मु यमंत्री मनोहर लाल से 'स्टेट ऑफ आर्ट पार्कÓ मंजूर करवाया है। इसके लिए सेक्टर 23 में 24 एकड़ भूमि चिह्नित कर ली गई है। इसमें से 6 एकड़ भूमि पर मैरिज पैलेस बनेगा जबकि 18 एकड़ में विश्व स्तरीय पार्क विकसित किया जाएगा। मैरिज पैलेस और स्टेट ऑफ आर्ट पार्क की पार्किंग साझी होगी। 'स्टेट ऑफ आर्ट पार्कÓ का डिजाइन तैयार कर रहे लैंडस्केपिंग एवं बागवानी विशेषज्ञ डॉ. सतीश नरूला ने बताया कि इस पार्क में पूरी तरह से नए कॉन्सेप्ट का टोपेरी गार्डन विकसित किया जाएगा। यहां स्थापित होने वाला सस्पेंस फाउंटेन नवीनतम तकनीक पर आधारित होगा। यह गुरुग्राम के यूजिकल फाउंटेन से काफी एडवांस होगा। उन्होंने बताया कि फाउंटेन में रंग-बिरंगी लाइटों और वन्य जीवों की आकृतियों से निकलने वाला पानी आकर्षण का केंद्र बनेगा। इसके साथ ही पार्क में आने वालों के लिए खाना और स्नेक्स के विशेष प्रबंध होंगे। इसके लिए पार्क के भीतर की रेस्टोरेंट का निर्माण किया जा रहा है। सांस्कृतिक कार्यक्रम की छटा बिखेरने के लिए ओपर एयर थियेटर भी पूरी तरह से हट कर होगा। इसके साथ ही पार्क में लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करता 'गार्डन ऑफ 5 सेंसिजÓ होगा। इसके लिए जादुई दीवार होगी, जिसे छूकर लोग अपनी ज्ञानेंद्रियों की क्षमता को माप सकेंगे। संकन गार्डन और भूलभुलैया एक साथ होंगे। इसके लिए पार्क में तलहटीनुमा जगह विकसित होगी। इस जगह की गहराई और उसमें बना भूलभुलैया रोमांच और साहसिक गतिविधियों के लिए प्रयोग होगा। पार्क के बीच में सेंट्रल स्पॉट होगा, जहां पहुंचने पर पर्यटकों को शांति का अहसास होगा। बैठक में टाउन एंड कंटरी प्लानिंग विभाग के प्रधान सचिव पूर्व कुमार सिंह, प्रशासक महावीर कौशिक, ईओ अनिल दून, मु य वास्तुकार एचआर यादव, सीटीपी एन मेहतानी, एसई संजीव चौपड़ा, हरदीप सिंह, एक्सईएन अशोक राणा, यजेश मोहन मेहरा समेत अधिकारी मौजूद रहे।

अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी भी तैयार होंगे

विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने बताया कि 'स्टेट ऑफ आर्ट पार्कÓ में अंतरराष्ट्रीय स्तर के मानकों के अनुरूप साइकिल ट्रैक विकसित किया जाएगा। इसका उद्देश्य शहर में साइकिलिंग का अ यास करने वाले खिलाडिय़ों के लिए उचित वातावरण उपलब्ध करवाना है। इसके साथ ही पार्क में स्केटिंग रिंग भी तैयार होगा। यह भी खिलाडिय़ों की जरूरतों के मुताबिक तैयार होगा। इसके साथ ही व्यायाम के लिए फिटनेस टूल्स के साथ ओपन जिम भी पार्क में विकसित किया जाएगा।

पंजाब जा रहा हरियाणा का रेवेन्यु, मैरिज पैलेस बनाकर रोकेंगे

गत दिनों पंचकूला के दौरे पर आए मु यमंत्री मनोहर लाल ने पाया कि पंचकूला के लोग शादी समारोह के लिए जीरकपुर स्थित मैरिज पैलेसों का प्रयोग करते हैं। इससे बड़ी मात्रा में हरियाणा का राजस्व पंजाब में चला जाता है। मु यमंत्री चाहते हैं कि पंचकूला में शादियों के लिए बड़ी जगह तैयार की जाए, जिससे शहर वासियों को सुविधा हो और प्रदेश सरकार की आमदनी बढ़ाई जा सके। इसी उद्देश्य से सेक्टर 23 में बनने वाले 'स्टेट ऑफ आर्ट पार्कÓ के साथ ही 6 एकड़ भूमि पर मैरिज पैलेस तैयार होगा। यह मैरिज पैलेस काफी विशाल तथा अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगा। बड़ा मैरिज पैलेस और स्टेट ऑफ आर्ट पार्क एक साथ विकसित होने से इस प्रोजेक्ट उपयोगिता काफी बढ़ जाएगी। सरकार इसे जन उपयोगी और पर्यटन के केंद्र के रूप में विकसित करना चाहती है।