श्रीलंका में आज आधी रात से इमरजेंसी लागू, भारतीय बॉर्डर पर भी अलर्ट- मृतकों में 5 भारतीय नेता 

कोलंबो (उत्तम हिन्दू न्यूज) : श्रीलंका में रविवार को ईस्टर के मौके पर हुए सिलसिलेवार बम विस्फोटों में मारे गए 290 लोगों में पांच भारतीय भी शामिल हैं। रुवान गुनसेकरा ने सोमवार को पुष्टि करते हुए कहा कि इन हमलों के संबंध में 24 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सोमवार सुबह, कोलंबो में भारतीय उच्चयोग ने दो और भारतीयों के मारे जाने की पुष्टि की। उधर, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैथिपाला सिरिसेना ने बड़ा कदम उठाते हुए सोमवार आधी रात से देशव्यापी आपातकाल की घोषणा कर दी है। इस इमरजेंसी के लागू होने से पूरे देश में कई प्रकार की गतिविधियों पर बैन लग जाएगा। इसी बीच श्रीलंका के साथ सटी भारतीय समुद्री सीमा पर हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। समुद्री निगरानी विमान तैनात कर दिए गए हैं ताकि श्रीलंका से भागने वाले आत्मघाती हमलावर भारतीय सीमा में घुसकर किसी अप्रिय घटना को अंजाम न दे सकें। श्रीलंका में आतंकवादी हमले में मारे गये लोगों में कर्नाटक निवासी और जनता दल (सेक्युलर) के पांच नेता शामिल हैं। 

Image result for Sri Lankan President Maithripala Sirisena

प्राप्त जानकारी के मुताबिक इनकी पहचान शिवकुमार, हनुमनथारायप्पा, रंगाप्पा, रमेश और लक्ष्मीनारायण के रूप में की गयी है। इनके पारिवारिक सदस्यों ने बताया कि वे 18 अप्रैल को हुये पहले चरण के मतदान के बाद श्रीलंका गये थे और कल आने वाले थे। सूत्रों ने बताया कि कर्नाटक के ही तीन और लोगों के नहीं लौटने की सूचना मिली है। विदेश मंत्रालय से इस संबंध में कोई जानकारी मिलने की प्रतीक्षा की जा रही है। जद(एस) नेताओं की मौत की खबर मिलने के बाद उनके घरों के बाहर शुभचिंतकों, विधायकों का जमावड़ा लग गया है और वे सभी परिवार के सदस्यों को सांत्वना देने की कोशिश कर रहे हैं। पूर्व प्रधानमंत्री एवं जनता दल (सेकुलर) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एच डी देवगौड़ा और मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने नेताओं की मौत पर दुख जताया है। 

Image result for blast in srilanka