लॉकडाउन में बेटा गुजरात में फंसा, एक ट्वीट पर पुलिस ने मां को पहुंचाया राशन

बांदा/हमीरपुर (उत्तम हिन्दू न्यूज): कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए पूरा देश बुधवार से लॉकडाउन है, ऐसे में समस्याएं उत्पन्न होना लाजमी है। लेकिन, जब पुलिस अधिकारी सक्रिय हों, तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। एक ऐसा ही मामला हमीरपुर जिले का सामने आया है, जहां का एक युवक लॉकडाउन में गुजरात में फंसा है और पुलिस ने ट्वीट से मिली जानकारी पर उसकी बीमार मां को राशन सामग्री पहुंचाया है। 

चित्रकूटधाम परिक्षेत्र के पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) दीपक कुमार ने शनिवार को बताया, "हमीरपुर जिले के जलालपुर थाना क्षेत्र का रहने वाला युवक रमेश कुमार मुझे व हमीरपुर पुलिस के ट्विटर हैंडिल को टैग करते हुए ट्वीट किया था कि वह लॉकडाउन में गुजरात में फंसा है और उसकी बीमार मां घर में अकेली है, राशन भी खत्म हो गया है।"

उन्होंने बताया, "रमेश से ट्विटर पर ही उसकी मां का पूरा पता लिया गया और जलालपुर थाना प्रभारी के माध्यम से बीमार महिला को तत्काल राशन सामाग्री पहुंचाई गई है।" डीआईजी ने लोगों से अपील करते हुए कहा, "लॉकडाउन का पूर्ण पालन करें, पुलिस उनकी छोटी या बड़ी हर समस्या के निदान के लिए 24 घंटे उनके साथ खड़ी है।" 'आईएएनएस' ने पुलिस अधिकारी को टैग कर ट्वीट करने वाले रमेश कुमार से फोन पर जब इस बारे में पूछा तो उसने कहा, "मुझे तो उम्मीद ही नहीं थी कि पुलिस इतना जल्दी उसकी मां को राशन सामग्री पहुंच देगी। मां की मुसीबत जानकर मुझे दो दिन से नींद नहीं आयी थी, अब सकून है।"