बेलगावी मसला उठाने पर सिद्दारमैया ने की उद्धव की तीखी आलोचना

बेंगलुरु (उत्तम हिन्दू न्यूज): कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एवं विधानसभा में विपक्ष के नेता सिद्दारमैया ने सोमवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेलगावी सीमा मुद्दे पर दिए गए बयान को सबसे गैर-जिम्मेदाराना करार देते हुए तीखी आलोचना की और कहा कि बेलगावी कर्नाटक का अभिन्न अंग है। सिद्दारमैया ने ट्वीट किया, “जिस समस्या का पहले से ही समाधान हो गया है उसे उलझाने की कोशिस न करें।”

उन्होंने कहा कि बेलागवी सीमा मुद्दे पर महाजन रिपोर्ट अंतिम है। उद्धव ठाकरे जिस मसले का समाधान निकल चुका है उस पर राजनीति नहीं करें। सिद्दारमैया ने चेताया कि अब आप केवल शिव सेना के प्रमुख नहीं है बल्कि राज्य के मुख्यमंत्री हैं। उन्होंने कहा, “कर्नाटक की जमीन, जल और भाषा की रक्षा करना हमारा कर्तव्य है और इस मुद्दे पर कोई समझौता नहीं होगा, इस पर राजनीति मत करिए।”

उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा को आधिकारिक तौर पर इसका जवाब देना चाहिए और इसकी निंदा की जानी चाहिए। उन्होंने कहा, “कन्नाड़ लोग शांति, सहिष्णुता और सह-अस्तित्व में विश्वास करते हैं। हमारी चुप्पी को हमारी कमजोरी न समझा जाए।”