काली माता मंदिर में ताला लगने का  मामला गरमाया, जनहित में महामारी के खात्मे के लिए पवन गुप्ता समेत कई श्रद्धालुओं ने की प्रार्थना सभा

पटियाला (उत्तम हिन्दू न्यूज)- आज शाम पूर्व घोषणा के अनुसार पवन गुप्ता राष्ट्रीय प्रमुख शिवसेना हिंदुस्तान  आम श्रद्धालु की तरह श्री काली माता मंदिर में माता के चरणों में श्रद्धा व्यक्त करने के लिए पहुंचे। जब शाम 5:00 बजे श्री काली माता मंदिर के बाहर वह पहुंचे तो मुख्य द्वार पर ताला लगा पाया वहां पर काफी संख्या में भक्तजन श्रद्धालुओं के रूप में शहर के विभिन्न हिस्सों से माथा टेकने के लिए पहुंचे हुए थे। इस अवसर पर पवन गुप्ता राष्ट्रीय प्रमुख शिवसेना हिंदुस्तान  ने सभी श्रद्धालुओं से मुलाकात की और उनकी धार्मिक भावनाओं का सम्मान करते हुए वही मुख्य गेट पर जहां जिला प्रशासन पटियाला के आदेश से ताला जड़ा गया था वहां पर मानवता के भले के लिए और महामारी के खात्मे के लिए श्री राम नाम का  जाप शुरू कर दिया। साथ ही श्री हनुमान चालीसा जी का पाठ किया।


इस अवसर पर भक्तों में जिला प्रशासन पटियाला द्वारा एकतरफा कार्रवाई करते हुए श्री महाकाली मंदिर में ताला लगाकर बंद करने की कार्रवाई पर दुख जताया और दूसरी तरफ अन्य किसी धर्म के धार्मिक स्थान को कोरोना वायरस की वजह से बिल्कुल भी बंद नहीं करवाया जा सका। महंत रवि कांत ने मांग की कि सभी श्रद्धालु सतर्कता से अपना अपना ध्यान रखें। उन्होंने यह भी कहा कि जिला प्रशासन पटियाला को सभी धार्मिक स्थानों पर कार्रवाई करनी चाहिए। पवन गुप्ता ने इस प्रार्थना सभा में श्रद्धालुओं की भावनाओं का सम्मान करते हुए कहा कि हम सब मां के चरणों में प्रार्थना करते हैं कि यह महामारी का खात्मा जल्दी होगा। इस समय श्रद्धालु के रूप में राजेश कौशिक, क्षमा कांत पांडे, रविंद्र सिंगला, प्रदीप वर्मा, पंडित बद्री प्रसाद शास्त्री, हिंदू नेता विनीत सेहगल आदि सैकड़ों भक्तगण उपस्थित रहे।