एसजीपीसी बाखूबी निभा रही अपना सामाजिक उत्तरदायित्व : रघुजीत

करनाल (आशुतोष गौतम): शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी श्री अमृतसर द्वारा गुरुद्वारा श्री शीशगंज साहिब पातशाही 9वीं तरावड़ी के 2 दिवंगत अखंडपाठियों के परिवार को आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाई है। जिला करनाल के गांव रम्बा निवासी पीडि़त परिवार को एसजीपीसी द्वारा आर्थिक मदद के चैक सौंपे गए। एसजीपीसी के वरिष्ठ उपप्रधान रघुजीत सिंह विर्क आर्थिक सहायता के यह 50-50 हजार रुपये के सौंपने के लिए गांव रम्बा पहुंचे। उन्होंने स्व. छत्तरपाल सिंह की पत्नी बीबी दविंदर कौर और स्व. गुरलाभ सिंह की पत्नी बीबी कंवलजीत कौर को उपरोक्त राशि के चैंक वितरित किए। 

एसजीपीसी वरिष्ठ उपप्रधान रघुजीत सिंह विर्क ने बताया कि पीडि़त परिवार की ओर से आर्थिक सहायता की अपील की गई थी, जिसे शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी श्री अमृतसर ने स्वीकार करते हुए यह सहायता उपलब्ध करवाई है। उन्होंने कहा कि एसजीपीसी एक धार्मिक संस्था है, लेकिन समाज के प्रति अपने उत्तरदायित्व का निर्वाह बाखूबी कर रही है। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के मैंबर जत्थेदार भूपिंदर सिंह असंध ने बताया कि गांव रम्बा निवासी छत्तरपाल सिंह और गुरलाभ सिंह गुरुद्वारा साहिब में अखंडपाठी थे और एक सड़क दुर्घटना में उनकी मृत्यु हो गई थी। इसके बाद पीडि़त परिवार की ओर से आर्थिक मदद की गुहार लगाई गई थी।

जिस पर कार्रवाई करते हुए एसजीपीसी वरिष्ठ उपप्रधान रघुजीत सिंह विर्क ने दोनों मृतकों की पत्नियों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता मुहैया करवाई है। इस मौके पर सिख मिशन हरियाणा इंचार्ज मंगप्रीत सिंह, गुरुद्वारा श्री शीशगंज साहिब पातशाही 9वीं तरावड़ी प्रबंधन समिति के प्रधान प्रताप सिंह, उपप्रधान सूरज सिंह, रणजीत सिंह विर्क, करनैल सिंह, सूबा सिंह, जोगिंदर सिंह, सुखपाल सिंह, बलविंदर सिंह, गुरविंदर सिंह, इंदरपाल सिंह, विजेंदर सिंह भी मौजूद रहे। 

Related Stories: