ISRO के टॉप साइंटिस्ट का सनसनीखेज दावा- मुझे चटनी में जहर देकर मारने की हुई थी कोशिश, घर में छोड़े गए सांप

बेंगलुरु (उत्तम हिन्दू न्यूज) : भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी इसरो के एक प्रमुख वैज्ञानिक ने सनसनीखेज दावा किया है। इसरो के शीर्ष वैज्ञानिक तपन मिश्रा ने मंगलवार को दावा किया कि उन्हें तीन साल से अधिक समय पहले जहर दिया गया था। वैज्ञानिक तपन मिश्रा ने आरोप लगाया कि उन्हें 23 मई, 2017 को बेंगलुरु में इसरो मुख्यालय में पदोन्नति साक्षात्कार के दौरान घातक आर्सेनिक ट्राइऑक्साइड जहर देकर मारने की कोशिश की गई थी।

isro scientist tapan misra credit- sac gov in

मंगलवार को साेशल मीडिया पोस्ट में वैज्ञानिक मिश्रा ने खुलासा किया, 'मुझे दोपहर के भोजन के बाद स्नैक्स में संभवत: डोसे की चटनी के साथ मिलाकर जहर दिया गया था।' इतना ही नहीं, उन्होंने दावा किया कि उन्हें सांप से भी मारने की कोशिश की गई थी। बता दें कि मिश्रा फिलहाल इसरो में वरिष्ठ सलाहकार के तौर पर काम कर रहे हैं और इस महीने के अंत में सेवानिवृत होने वाले हैं। 

Tapan Misra Poisoned

उन्होंने फेसबुक पर 'लॉन्ग केप्ट सीक्रेट' नामक से एक पोस्ट में यह दावा किया कि जुलाई 2017 में गृह मामलों के सुरक्षाकर्मियों ने उनसे मुलाकात कर आर्सेनिक जहर दिये जाने के प्रति उन्हें सावधान किया था। मिश्रा ने बताया कि उनके द्वारा डॉक्टरों को दी गई जानकारी के चलते ही उनका सटीक उपचार हुआ और वह बच सके। हालांकि, उन्होंने दावा किया कि बाद में उन्हें सांस लेने में कठिनाई, त्वचा का असामान्य रूप से फट जाना, चमड़ी निकला और फंगल संक्रमण सहित कई गंभीर परेशानियों का सामना करना पड़ा।

Tapan Misra Poisoned

अपने फेसबुक पोस्ट में मिश्रा ने यह भी दावा किया कि उन्हें सांप से मारने की भी कोशिश की गई। उन्होंने कहा कि उनके क्वार्टर में जहरीले सांप छोड़े गए। उन्होंने एम्स के डॉक्टर से इलाज का मेडिकल रिपोर्ट भी सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म पर साझा किया है। उन्होंने सरकार से इस मामले की जांच की अपील की है। बता दें कि वह भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के अहमदाबाद स्थित अंतरिक्ष अनुप्रयोग केंद्र के निदेशक के रूप में सेवा दे चुके हैं। 

तपन मिश्रा वर्तमान में इसरो में वरिष्ठ सलाहकार हैं (फोटो: फेसबुक/तपन मिश्रा)

अपने लंबे फेसबुक पोस्ट में उन्होंने दावा किया कि पिछले दो वर्षों से मेरे क्वार्टर में कुछ दिनों के नियमित अंतराल पर कोबरा, क्रेट जैसे जहरीले सांपों रहस्यमय तरीके से मिलते रहे हैं। कार्बोलिक एसिड वेंट्स को हर 10 फीट पर डाला जाता है। फिर भी कोई भी सांपों की घुसपैठ को नहीं रोक सका। उन्होंने कहा कि सौभाग्य से मेरी चार बिल्लियों और मेरे सुरक्षा कर्मचारियों की वजह से वे सभी सांप या तो मारे गए या जिंदा पकड़े गए। उन्होंने दावा किया कि केवल तीन महीने पहले ही उनके घर में एक गुप्त सुरंग मिली है। जब सुरंग को बंद कर दिया गया तो सांप आने बंद हो गए।