तीन दिनों में जिला की 12 बसें जब्त

ऊना (ममता भनोट) - हिमाचल में बढ़ रहे सड़क हादसों से सबक लेते हुए प्रदेश पुलिस ने नियमों को ठेंगा दिखाने वाली बसों के खिलाफ विशेष मुहीम शुरू कर दी है। पिछले तीन से चले अभियान के दौरान पुलिस व परिवहन विभाग ने कुल 12 बसें जब्त कर ली है। वहीं ओवरलोड व फिटनेस को लेकर दर्जनों बसों के चालान भी किए गए है। पुलिस ने स्कूल की दो ओवरलोड़ बसों के चालान भी काटे हैं। परिवहन व पुलिस विभाग द्वारा लगातार चलाए जा रहे अभियान के बाद बस मालिक भी तमाम कागजात जुटाने लग पड़े हैं।  सोमवार को भले ही परिवहन विभाग ने कोई भी बस जब्त न की हो, लेकिन कुल 42 बसों की चैकिंग की। इनमें 10 वाहनों के चालान कर जुर्माना वसूल किया है।

आरटीओ ऊना एमएल धीमान ने बताया कि कुल 43 वाहनों में 33 बसें जिला की थी, जबकि 9 बसे अन्य जिला व राज्य की शामिल रही। इस बसों का निरीक्षण कर कानून अनुसार उचित कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। लापरवाही बरतने वालों का चालान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी निजी बस मालिकों को दस्तावेज पूरे करने होंगे, वहीं स्कूलों को भी फिटनेस बनाने को कहा गया है। उन्होंने कहा कि यदि नियमो का पालन न हुआ तो कारवाही की जाएगी। उन्होंने बताया कि पिछले तीन दिनों में जिला ऊना में कुल 4 वाहनों को जब्त किया गया है

उधर, पुलिस विभाग ने अब तक 8 बसों को जब्त किया गया है। एएसपी विनोद धीमान ने बताया कि सोमवार को पुलिस की टीम ने विभिन्न स्थानों पर कुल 35 बसों का निरीक्षण किया। इनमें से 2 बसों को जब्त किया गया। जिनमें एक परिहवन निगम व पंजाब रोडवेज की बस शामिल है। उन्होंने बताया कि पुलिस की टीम ने कुल 30 चालान कर जुर्माना वसूला। संतोषगढ़ में एक निजी स्कूल की दो बसें ओवरलोड़ थी, जिसका पुलिस ने चालान किया है, साथ ही चेतावनी भी दी है कि बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ न किया जाए। उन्होंने कहा कि बस मालिक यदि नियमों का पालन नहीं करेंगे, तो कार्रवाई अमल में ली जाएगी। उन्होंने कहा कि पुलिस का यह अभियान आने वाले दिनों में भी जारी रहेगा और नियमों को तोडऩे वालों के खिलाफ  सख्त कार्रवाई अम्ल में लाई जाएगी।