चौकीदार को चोर कहकर फंसे राहुल गांधी, सुप्रीम कोर्ट ने जारी किया अवमानना नोटिस

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): सर्वोच्च न्यायालय ने मंगलवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ आपराधिक अवमानना का नोटिस जारी किया। अदालत ने मामले को बंद करने की याचिका को खारिज कर दिया। अदालत 30 अप्रैल को राफेल समीक्षा के साथ इसकी भी सुनवाई करेगी। भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने चौकीदार चोर है नारे के लिए राहुल गांधी के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए सर्वोच्च न्यायालय का रुख किया था। लेखी ने उनके द्वारा दायर अवमानना याचिका के खिलाफ राहुल के हलफनामे पर जवाब दाखिल करने के लिए समय की मांग की है। लेखी की तरफ से अदालत में पेश वरिष्ठ वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने इस तरह के बयान देने में लापरवाही भरे रवैये का प्रदर्शन किया है।



राहुल गांधी की ओर से पेश वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि कोर्ट के हवाले से चौकीदार चोर है कहने के लिए खेद है। सिंघवी ने कहा कि राहुल विनम्र और ईमानदार हैं। उन्होंने अपनी गलती के लिए खेद जताया है और कोर्ट से मामले को बंद करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि पर उनके मुवक्किल पॉलिटिकल स्लोगन चौकीदार चोर है पर कायम हैं। बता दें कि पहले कोर्ट ने राहुल से स्पष्टीकरण मांगा था अब सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस जारी किया है। 

Related Stories: