जींद में सरल केंद्र की महिला कर्मी ने जहर खाकर की खुदकुशी 

एसडीएम समेत 12 के खिलाफ मामला दर्ज
उचाना/नरेन्द्र जेठी: उपमंडल कार्यालय में ई-दिशा केंद्र (अंतोदय सरल केंद्र) में एमटीएस के पद पर कार्यरत महिला कर्मचारी भतेरी देवी ने सल्फास निगल कर खटकड़ गांव में अपने घर पर आत्महत्या कर ली। मृतका मरने से पहले सुसाईड नोट भी छोड़ गई। थाना पुलिस ने मृतका के पति दिनेश की शिकायत पर एसडीएम समेत 12 के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज किया। 
दिनेश ने बताया कि ई-दिशा केंद्र के कर्मचारी व बाहर के लोग उनकी पत्नी को परेशान करते थे। ई-दिशा केंद्र में कार्यरत कर्मचारी उसके ड्यूटी से जाने के बाद जो उसका कंप्यूटर था उससे गलत तरीके से कार्य करते थे। इसको लेकर वो बीते कई महीनों से परेशान चल रही थी। गुरूवार रात को करीब 12 बजे मेरी बेटी का मेरे पास फोन आया कि मम्मी ने जहरीला पदार्थ निगल लिया। इस पर वह घर पहुंचा तो उसकी पत्नी दम तोड़ चुकी थी। जांच अधिकारी सतीश कुमार ने बताया कि मृतका के पति दिनेश की शिकायत पर एसडीएम सहित 12 के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करना सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। इसमें अंतोदय सरल केंद्र में काम करने वाले भारत भूषण, सुखदेव, अर्जुन, अतुल, संदीप क्र्लक, प्रवीण क्र्लक, मन्नु,दलबीर उर्फ पप्पू , बलकार घसो, दीपा टाईपिस्ट, तरषेम टाईपिस्ट एवं एसडीएम के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।        
एसडीएम डॉ. राजेश खोथ ने कहा कि आत्महत्या करने वाली महिला कर्मचारी ई-दिशा केंद्र (अंतोदय सरल केंद्र) की कर्मचारी है न की एसडीएम ऑफिस की। 
आत्हत्या करने से पहले लिखा भतेरी देवी ने पांच पन्नों का सुसाईड नोट-
ई-दिशा केंद्र (अंतोदय सरल केंद्र) में कार्यरत रही खटकड़ एमटीएस भतेरी देवी ने आत्महत्या करने से पहले छह पन्नों का सुसाईड नोट लिखा। इस सुसाईड नोट में ई-दिशा केंद्र में उसके साथ किया जा रहे व्यवहार के साथ-साथ उसको मानसिक रूप से परेशान करने का जिक्र किया है। पुलिस ने इस सुसाईड नोट पर जांच भी शुरू कर दी है। 
खटकड़ गांव के दिनेश को ये नहीं पता था कि नए साल पर उसके पास उसकी बेटी का फोन हैप्पी न्यू ईयर बोलने के लिए नहीं बल्कि परिवार पर दुख का पहाड़ टूटने घटना को लेकर जानकारी देने के लिए आएगा। नए साल की शुरूआत से दिनेश के परिवार पर दुखों का पहाड़ टूटा। मृतका के अपने बड़ी बेटी, छोटा बेटा छोड़ गई है। जो सुसाईड नोट लिखा गया है उसमें भतेरी देवी ने यहां पर बनने वाले लाइसेंसों पर सवाल उठाते हुए बिना कागजात के लाइसेंस बनाने की बात लिखी है। यहां पर बनाए जाने वाले लाइसेंस उससे बिना कागजात बनवाने के लिए दबाब बनाने की बात भी मरने से पहले सुसाईड नोट में लिखी गई।   
ई-दिशा केंद्र (अंतोदय सरल केंद्र) के कर्मचारियों का हस्ताक्षर युक्त एक पत्र भी मिला है। यह पत्र 21 अक्टूबर को लिखा गया है। पत्र में लिखा है कि भतेरी देवी के काफी दिनों से अनुपस्थित रहने पर वो काफी चिंतित है। हम सभी एक ही छत्त के नीचे कार्य करते है। आपके व्यवहार, बोलने चालने के व्यवहार में आए बदलाव से चिंतित है। हर तरह की मदद स्टॉफ द्वारा भतेरी देवी की करने का आश्वासन देने की बात पत्र में लिखा है।