साध्वी प्रज्ञा ने नाथूराम गोडसे को बताया 'देशभक्त', BJP ने बयान से किया किनारा तो मांगनी पड़ी माफी

भोपाल(उत्तम हिन्दू न्यूज)- भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की भोपाल संसदीय सीट से प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को लेकर दिए गए बयान को लेकर नया विवाद शुरू हो गया है। प्रज्ञा सिंह ठाकुर का आज एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बता रही हैं। इसमें साध्वी ने कहा कि गोडसे देशभक्त थे और रहेंगे। उन पर बोलने वाले स्वयं के गिरेबां में झांककर देखें।

प्रारंभिक तौर पर बताया गया है कि साध्वी का यह बयान मध्यप्रदेश के आगरमालवा जिले का आज का ही है। सुश्री ठाकुर ने इस अवसर पर कांग्रेस को भी आड़े हाथों लिया और आरोप लगाया कि उसके नेता आतंकवाद का समर्थन करते हैं। इस संबंध में प्रदेश भाजपा के नेता हितेश वाजपेयी ने यहां मीडिया से प्रतिक्रिया में संभलते हुए कहा कि हम श्री गांधी की हत्या करने वाले का महिमामंडन नहीं कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि साध्वी ने यह टिप्पणी किस संदर्भ में कही है, इसके बारे में उन्हें फिलहाल जानकारी नहीं है और इस पर अभी और कुछ बोलना उचित नहीं है। वहीं प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने एक टीवी चैनल पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि भाजपा दोगली पार्टी है। वह मुखौटे लगाकर राजनीति करती है। पहले किसी भी मुद्दे पर कहलवाती है और फिर खंडन करती है। गोडसे निश्चित रूप से आतंकवादी था। उसने महात्मा गांधी की हत्या का प्रयास पहले भी किया था। उन्होंने कहा कि इस तरह के बयान शोभा नहीं देते हैं। भोपाल संसदीय सीट से भाजपा प्रत्याशी घोषित होने के बाद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने अयोध्या में राम मंदिर और महाराष्ट्र के शहीद वरिष्ठ पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे को लेकर भी बयान दिया था। इन दोनों मामलों को लेेकर भी विवाद हुआ था। भोपाल में भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर का मुकाबला कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह से है। 

भाजपा ने नाथूराम गोडसे पर साध्वी के बयान से खुद को पूरी तरह अलग कर लिया। भाजपा प्रवक्ता जी वी एल नरसिम्हा ने कहा कि गोडसे पर भाजपा साध्वी के बयान से सहमत नहीं है। उन्हें अपने बयान पर माफी मांगनी चाहिए। 

गौरतलब है कि अभिनेता से नेता बने कमल हासन हिंदू आतंकवाद को लेकर विवादित बयान दिया था। तमिलनाडु में चुनाव प्रचार करते हुए हासन ने कहा था कि आजाद भारत का पहला आतंकवादी एक हिंदू था। कमल हासन ने कहा, 'आजाद भारत का पहला आतंकवादी एक हिंदू था और उसका नाम नाथूराम गोडसे था। मैं यह इसलिए नहीं कह रहा हूं क्योंकि यहां पर कई सारे मुस्लिम मौजूद हैं। मैं महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने खड़े होकर यह कह रहा हूं।' 

भोपाल से बीजेपी की प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा पहले भी अपने बयानों से बीजेपी को मुश्किल में डाल चुकी हैं। उनकी उम्मीदवारी को लेकर विपक्ष के नेता कई बार सवाल उठा चुके हैं। वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को हिंदू आंतकवादी कहे जाने पर उनका बचाव किया था। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में साध्वी से जुड़े एक सवाल के दौरान शाह ने दो टूक कहा था कि साध्वी को झूठे केस में फंसाया गया।