रूपेश सिंह हत्याकांड: पटना पुलिस ने बनाई SIT, तेजस्वी बोले- नीतीश कुमार से नहीं संभल रहा बिहार

पटना (उत्तम हिन्दू न्यूज) : इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन मैनेजर रूपेश कुमार सिंह हत्याकांड में पटना एसएसपी के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया गया है। एसआईटी टीम में सिटी एसपी सेंट्रल, सचिवालय डीएसपी के साथ-साथ चार थानों के थानेदारों को भी शामिल किया गया है। एसआईटी की टीम को एसटीएफ के साथ भी जोड़ा गया है। पुलिस को हत्याकांड में गहरी साजिश की आशंका है। पुलिस के अनुसार घटना को सुपारी किलरों ने अंजाम दिया है।

बता दें कि मंगलवार शाम पटना एयरपोर्ट पर तैनात इंडिगो के स्टेशन मैनेजर रूपेश कुमार सिंह को गोलियां से भून डाला। रूपेश की मौके पर ही मौत होगी। हमलावर हथियार लहराते हुए फरार हो गए। इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक बार फिर विपक्ष के निशाने पर आ गए हैं। विपक्षी दल नीतीश कुमार से इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। 

पूर्व उप मुख्यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार सुबह ट्वीट करके नीतीश के इस्तीफे की मांग की। तेजस्वी यादव ने लिखा, अनैतिक और अवैध सरकार के संरक्षण में अपराधों और दुष्कर्मों की प्रतिदिन संख्या बढ़ना एनडीए की सामूहिक विफलता है। तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश  द्वारा अपराधों को छिपाने की चेष्टा एवं उसे स्वीकार नहीं करना ही सबसे बड़ा अपराध और अपराधियों के लिए रामबाण है। उनसे बिहार नहीं संभल रहा, वो अविलंब इस्तीफ़ा दें।

बिहार चुनाव: तेजस्वी यादव के 'बाबू साहब' वाले बयान पर बीजेपी की कड़ी  प्रतिक्रिया - BBC News हिंदी
 
इससे पहले, तेजस्वी यादव ने ट्वीट करके कहा था, ''सत्ता संरक्षित अपराधियों ने पटना में एयरपोर्ट मैनेजर रूपेश कुमार सिंह की उनके आवास के बाहर गोलियां मार हत्या कर दी। वह मिलनसार और मददगार स्वभाव के धनी थे। उनकी असामयिक मृत्यु से बहुत दुःखी हूं। भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे। बिहार में अब अपराधी ही सरकार चला रहे है।''

इंडिगो के स्टेशन मैनेजर रूपेश कुमार सिंह की हत्या के बाद बिहार में सियासी पारा चढ़ने लगा है। पप्पू यादव ने सीबीआई जांच की मांग की है, तो भाजपा के सांसद विवेक ठाकुर ने अपनी ही सरकार पर सवाल उठाए हैं। विवेक ठाकुर ने कहा है कि या तो बिहार सरकार 3 से 5 दिन के भीतर अपराधियों को पकड़े या फिर ये मामला सीबीआई को सौंपे।

आरजेडी नेता तेजप्रताप ने कहा कि इंडिगो के सीनियर मैनेजर को पटना में उनके घर के बाहर दिनदहाड़े गोलियों से छलनी कर दिया गया। बेहतरीन इंसान थे रूपेश। एयरपोर्ट पर सबसे मिलनसार व मददगार लोगों में थे। भगवान उनकी आत्मा को शांति दें। ये हत्या बिहार के लॉ एंड आर्डर पर बहुत गंभीर सवाल पैदा करती है।