फारूक का कश्मीर में जल्द चुनाव पर जोर

श्रीनगर (उत्तम हिन्दू न्यूज): जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री व नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने बुधवार को राज्य में जल्द विधानसभा चुनाव कराए जाने पर जोर दिया। अब्दुल्ला ने अपने आवास पर संवाददाताओं से बातचीत में कहा, "राज्यपाल शासन या राष्ट्रपति शासन का अंत होना चाहिए।" इस मौके पर पीडीपी से निकाले गए दो वरिष्ठ नेता बशरत बुखारी व पीर मोहम्मद हुसैन नेशनल कांफ्रेंस में शामिल हुए।

अब्दुल्ला ने कहा, "चुनाव कराए जाने चाहिए ताकि लोग कार्य करने वाले अपने प्रतिनिधियों को चुन सकें।" राज्य में छह महीने लंबे राज्यपाल शासन के समाप्त होने पर केंद्रीय मंत्रिमंडल की सिफारिश पर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने पर अब्दुल्ला ने राज्य में जल्द चुनाव कराने का समर्थन किया।

देश में 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले महागठबंधन के बारे में एनसी प्रमुख ने कहा, "गठबंधन ज्यादातर राज्यों में होंगे और ये राज्य संसद के लिए परिणाम देंगे।" उन्होंने कहा, "कुछ जगहों पर मजबूत गठबंधन होंगे और दूसरी जगहों पर मिला-जुला गठबंधन होगा, लेकिन राज्य प्रमुख कारक होंगे।"

Related Stories: