पिस्तौल के बल पर फर्म संचालक से 5 लाख 57 हजार की लूट की वारदात सुलझी, 4 गिरफ्तार

लुुधियाना (सचदेवा): लुुधियाना में गत आठ दिन पूर्व मार्किट से नकदी कलैक्शन कर वापिस फैक्ट्री जा रहे वायर फर्म के मालिक व नौकर से अज्ञात मोटरसाइकिल सवार लुटेरों द्वारा पिस्टल की नोक पर 5 लाख 57 हज़ार नकदी की लूट को साल्व करते हुए थाना डिविजन छह की पुलिस ने मास्टरमाइंड फैक्ट्री के कर्मी सहित चार को गिरफ्तार करने का दावा किया है।जिनकी पहचान मास्टरमाइंड विक्की कुमार उर्फ विक्की पुत्र सुनील कुमार निवासी गली नंबर 11 मेड़ कॉलोनी, कपिल कुमार पुत्र माला राम निवासी न्यू कुंदनपुरी, शिवम खुल्लर उर्फ शम्मी पुत्र अश्विनी खुल्लर निवासी गुरु नानक पुरा सिविल लाइन और राजू सोनी उर्फ ललित सोनी उत्तर सोमेश कुमार निवासी नजदीक चिट्टी कोठी चंद्र नगर के रूप में हुई है।

मामले की जानकारी देते ज्वाइंट सीपी श्रीमती कंवरदीप कौर आईपीएस (दिहाती),एडीसीपी जोन दो जसकिरण जीत सिंह तेजा और एसीपी इंडस्ट्रियल एरिया बी संदीप कुमार वढेरा ने बताया कि बीती 14 सितम्बर को शाम चार बजे के करीब डाकघर इंडस्ट्रियल इस्टेट मिलरगंज के बाहर से चाय पी रहे फर्म मालिक व नौकर से अज्ञात लुटेरे पिसतोल की नोक पर नकदी लूट फऱार हो गए थे।जिसके चलते क्षेत्र में पड़ते थाना डिविजन छह के एसएचओ अमनदीप सिंह बराड ने फर्म मालिक विशाल जैन की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ धारा 379 बी,34 आइपीसी के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी।गठित पुलिस टीमों के सहयोग से लगातार सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे थे।जिसके चलते बीते दिन थाना प्रभारी व उनके अंतर्गत पड़ती पुलिस चौंकी मिलरगंज इंचार्ज बलवीर सिंह सहित पुलिस पार्टी ने उक्त चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।जिनसे पूछताछ के दौरान सामने आया कि मामले का मास्टर माइंड विक्की कुमार है जो उसी फर्म में मार्किट पार्टियों से नकदी कलैक्शन का काम करता है।

पुलिस द्वारा गहन पूछताछ के दौरान विकी ने बताया कि फर्म में पुराना होने के चलते उसे कैश की पूरी जानकारी होती थी।घर में पैसों की तंगी के चलते उसे पैसों की जरूरत थी।अपराध का रास्ता अपनाते उसने साथी शिवम खुलर संग मिलकर मालिक विशाल को लूटने की योजना बनाई। शिवम खुल्लर उर्फ शम्मी ने वारदात को अंजाम देने के लिए विक्की कुमार को आगे उपने साथी कपिल कुमार और राजू सोनी से मिलाया था।आपसी प्लानिंग के मुताबिक कर्मी विकी ने लूट वाले दिन अपनी एक्टिवा का नंबर राजू और कपिल को नोट करवाया था और खुद मालिक संग मिलरगंज डाकघर के बाहर मार्किट से नकदी कलैक्शन कर वापिस खोखे पर चाय पीने की सूचना दी थी।