राहत : थोक महंगाई में आई कमी, ये है वजह  

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): समुद्री मछली, चाय और पान पत्ता के कीमतों में कमी के कारण थोक मूल्यों पर आधारित थोक मुद्रास्फीति की दर मौजूदा वर्ष के जुलाई में घटकर 1.08 प्रतिशत दर्ज की गई है जोकि इससे पिछले महीने 2.02 प्रतिशत और जुलाई 2018 में 5.27 प्रतिशत रही थी।

सरकार के आज यहां जारी आंकड़ों के अनुसार चालू वित्त वर्ष में अभी तक थोक मुद्रास्फीति की दर 1.08 प्रतिशत दर्ज की गई है। इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में यह आंकड़ा 3.1 प्रतिशत रहा था। खाद्य वस्तु समूह में समुद्री मछली के दाम सात प्रतिशत, चाय छह प्रतिशत, पान पत्ता पांच प्रतिशत, मुर्गें का मांस तीन प्रतिशत और मछली तथा उडद में एक - एक प्रतिशत की गिरावट आयी है। हालांकि इसी वर्ग में फल एवं सब्जी के दाम पांच प्रतिशत, अंडा, मक्का एवं ज्वार में चार - चार प्रतिशत, सूअर का मांस में तीन प्रतिशत, गाय एवं भैंस का मांस, बाजरा, गेहूं एवं मसाला में दो - दो प्रतिशत तथा जौ, मूंग, धान, मटर फली, रागी और अरहर में एक - एक प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई है।