बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ रेप पीडि़ता ने खटखटाया वेटिकन सिटी का दरवाजा

नई दिल्ली/जालंधर (उत्तम हिन्दू न्यूज): नन से रेप करने के आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल पर गिरफ्तारी का संकट गहरा सकता है। पीडि़त नन ने इंसाफ के लिए वेटिकन सिटी में पोप के एंबेसडर को पत्र लिख डाला है। इस पत्र में पीडि़ता ने साफ तौर पर लिखा है कि उसके साथ कई बार रेप हुआ है और इसके बाद जब उसने इंसाफ मांगा तो बिशप ने पैसे और राजनीतिक ताकत का इस्तेमाल कर केस को दबाने की कोशिश की। पीडि़ता ने 7 पन्नों का पत्र लिखा है जिसमें 2014 से लेकर 2016 तक उसके साथ हुए यौन शोषण का वर्णन है। 

पीडि़ता ने लिखा है कि उसके मन में चर्च के प्रति पूर्ण सम्मान है। उधर, कोच्चि में बिशप फ्रैंको मुलक्कल की गिरफ्तारी की मांग को लेकर चल रहा धरना आज भी जारी रहा। ये धरना शनिवार से जारी है। आरोपों से घिरे बिशप फ्रैंको मुलक्कल ने आज कहा कि पुलिस ने 9 घंटे उसेस पूछताछ की लेकिन नन बार-बार अपना बयान बदल रही है। अब पुलिस तय करेगी कि आखिर कौन सच बोल रहा है। कार्डिनल ने देशभर की चर्च के अधिकारियों से बात कर फ्रैंको मुलक्कल को बिशप के पद से तुरंत हटाने की मांग की है। जालंधर पुलिस कमिश्नर पीके सिन्हा ने आज कहा कि केरल पुलिस जालंधर आई थी और हमने उनको पूर्ण सहयोग दिया। बाकी जालंधर पुलिस की इसमें कोई भूमिका नहीं है। 
 

Related Stories: