रणइन्दर और कैप्टन परिवार बाकी सदस्यों के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामलों के कारण कैप्टन मोदी के खिलाफ मुंह नहीं खोलते : चीमा

चंडीगढ़ (प्रेम विज): बीते दिनों ईडी की ओर से पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बेटे रणइन्दर सिंह की विभिन्न मामलों में पूछताछ को लेकर आम आदमी पार्टी के विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि पिछले लम्बे समय से इन मामलों में पूछताछ हो रही है इसलिए अब इस मामले में किसी सार्थक नतीजे पर पहुंचना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री किसानों के हक में इसलिए कोई फैसला नहीं ले रहे, क्योंकि कैप्टन अमरिंदर और परिवार पर भ्रष्टाचार के मामलों के कारण ही नरेन्द्र मोदी कैप्टन की बाजू मरोडऩे में कामयाब हो रहा है। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह खुद, पत्नी और बेटे के स्विस बैंकों के केस और अन्य विदेशी हवाले के मामले के केस खुलने के डर से ही कैप्टन अमरिंदर अब तक किसानों के मुद्दे हल करवाने के लिए मोदी पर दबाव डालने या उनको निजी तौर पर मिलने से कतरा रहे हैं। उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार से मांग की है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह और उनके परिवार के सदस्यों की विदेशी जायदादों का विवरण जनतक करना चाहिए। 

चीमा ने कहा कि पंजाब के लोगों ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को विधानसभा चुनाव में बड़ा बहुमत देकर पंजाब में सरकार बनाई थी, परंतु उन्होंने भ्रष्टाचार के मामले के दबाव के कारण पंजाब के लोगों की आवाज उठाने से गुरेज किया है। उन्होंने कहा कि यदि प्रदेश की सरकार और उसके नेता ईमानदार हों तो केंद्र सरकार उनके खिलाफ कुछ भी नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सरकार से सबक सीखें, जिन्होंने ईमानदारी के रास्ते पर चलते हुए लोगों के हितों को दाव पर नहीं लगाया। उन्होंने कहा कि दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार एक मिसाल है। जिसको धमकाने, दबाने के लिए जहां मोदी ने अनेकों बार सीबीआई और ईडी का डरावा दे कर सरकार को झुकाने का यत्न किया है, परंतु अरविंद केजरीवाल के ईमानदार होने के कारण वह कुछ भी नहीं कर सका।