हंगामें के बाद प्रश्नकाल स्थगित

जयपुर (उत्तम हिन्दू न्यूज): राजस्थान विधानसभा के मानसून सत्र के दूसरे दिन आज प्रश्नकाल के दौरान हुये अभूतपूर्व हंगामें के बाद प्रश्नकाल स्थगित कर दिया गया। विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने प्रश्नकाल शुरू करते ही कांग्रेस विधायक दल के सचेतक गोविंद डोटासरा ने सदन में विधायकों द्वारा पूछे गये चार हजार प्रश्नों को समाप्त करने का मुद्दा उठाते हुये कहा कि सरकार प्रतिपक्ष के सवालों से बचना चाहती है और इस लिये वह विधायकों के प्रश्नों को समाप्त कर रही है।

सदन में हुये इस हंगामें के दौरान निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल, सहित कई नेता खडे हो गये और वैल तक पहुंच गये। विपक्ष बार-बार सरकार पर विधायकों के सवालों का जवाब नही देने का आरोप लगाते हुये कहा कि सरकार अपने अधिकारियों से ही जवाब नही ले पा रही है।

डोटासरा के यह कहते ही सदन में हंगामा शुरू हो गया और संसदीय कार्य मंत्री राजेन्द्र राठौड, सरकारी सचेतक कालूलाल गुर्जर, मदन राठौड और सार्वजनकि निर्माण मंत्री युनूस खान सहित सत्ता पक्ष के अनेक सदस्य खडे होकर विरोध करने लगे। सदन में हंगामे के दौरान कांग्रेस की शकुंतला रावत, श्रवण कुमार, निर्दलीय हनुमान बेनीवाल सहित अनेक सदस्य उठकर वैल के आसपास आ गये वहीं सत्ता पक्ष के विधायक अपनी सीटों पर खडे होकर इसका विरोध करने लगे।