पंजाब: जहरीली शराब का कहर जारी, 13 और की मौत 

अमृतसर (उत्तम हिन्दू न्यूज):  माझा में जारी जहरीली शराब का कहर जारी है। कल तक जहां 47 लोगों की मौत हो गई थी वहीं शनिवार को 13 और लोगों की मौत हो गई। कुल मिलाकर प्रदेश में मौतों का आंकड़ा 62 हो गया है। इन मौतों ने विभिन्न गांवों में कोहराम मचा दिया है। अभी तक मिली खबरों के मुताबिक अमृतसर के मुच्छल गांव में शराब पीने से एक व्यक्ति की मौत हो गई वहीं तरनतारन जिले में 12 लोगों की मौत की खबर है। अगर अभी तक के आंकड़ों पर नजर दौड़ाएं तो अब तक तरनतारन जिले में 42, अमृतसर जिले में 12 और गुरदासपुर जिले के बटाला में आठ लोगों की मौत हो चुकी है।


तरनतारन में आज जिन लोगों की मौत हुई उनके परिजनों ने काफी हंगामा किया। मारे गए लोगों के शवों को पोस्टमार्टम हाउस में रखवा दिया गया है। इसके बाद परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया। परिजनों का आरोप है कि पोस्टमार्टम हाउस में तीन शव रखने के लिए कैंडी की व्यवस्था है। शव अधिक होने कारण उन्हें जमीन पर ही रख दिया गया और शवों के परिजनों से बरफ मंगवाई गई।

इस मामले में कल पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ने बताया था कि सबसे पहले 29 जून की रात को अमृतसर (ग्रामीण ) पुलिस थाने में पड़ते पड़ते गांव मुच्छल और टांगरा से पांच मौतें सामने आईं। उसके अगले दिन 30 जुलाई की शाम को मुच्छल में दो और अन्य लोगों की संदिग्ध हालत में मौत हो गई जबकि एक व्यक्ति को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया जिसने बाद में दम तोड़ दिया। इसके बाद में नकली शराब पीने से गाँव मुच्छल से दो और मौतें हुई जबकि दो अन्य व्यक्ति की बटाला शहर में मौत हो गई। शुक्रवार को बटाला में पाँच अन्य लोगों की मौत हो गई जिससे शहर में मरने वालों की संख्या सात हो गयी तथा एक व्यक्ति को गंभीर हालत में बटाला के सिविल अस्पताल में रैफर कर दिया गया। इसी तरह तरनतारन में चार और संदिग्ध मौतें हुई हैं।