पंजाब सरकार 36 लाख परिवारों को देगी स्मार्ट राशन कार्ड : आशु

चंडीगढ़ (प्रेम विज) : एन.एफ.एस.ए. परिवारों के लिए स्मार्ट राशन कार्ड स्कीम के अंतर्गत पंजाब सरकार लगभग 36 लाख नेशनल फूड सिक्योरिटी ऐक्ट (एन.एफ.एस.ए.) अधीन आते परिवारों को स्मार्ट राशन कार्ड प्रदान करने जा रही है। यह जानकारी देते हुए खाद्य, सिविल सप्लाई और उपभोक्ता मामले मंत्री श्री भारत भूषण आशु ने बताया कि इससे एनएफएसए स्कीम अधीन आते योग्य परिवारों को उचित लाभ मिलना यकीनी बनेगा और इससे सरकार को सेवाएं प्रभावशाली ढंग से और पूरी पारदर्शिता से मुहैया करवाने में सहायता मिलेगी। स्मार्ट राशन कार्डों की विशेषताओं संबंधी विस्तार में जानकारी देते हुए श्री आशू ने बताया कि इस स्मार्ट राशन कार्ड का प्रयोग बिना किसी अतिरिक्त दस्तावेज के ई-पोस मशीनों के द्वारा सरकारी डिपूओं (फेयर प्राईज शॉप्स) से अनाज लेने के लिए की जायेगी। स्मार्ट राशन कार्ड परिवार के विवरण लेने सम्बन्धी ई-पोस मशीन पर स्वाईप किया जायेगा, जिसके बाद परिवार के मैंबर की बायोमैट्रिक्स प्रामाणिकता अनाज लेने के लिए की जायेगी। उन्होंने बताया कि कार्डों का प्रयोग इंटरा स्टेट पोर्टेबिलिटी के लिए भी किया जा सकता है।

स्मार्ट राशन कार्ड की सुरक्षा विशेषताओं संबंधी बताते हुए उन्होंने कहा कि चिप में एकीकृत लाभपात्रीयों के विवरणों को तालाबन्द कर दिया जायेगा, जोकि प्रमाणित यंत्रों से ही पढ़े जाएंगे। फाइल ढांचे को इस ढंग से तैयार किया गया है कि यह सिर्फ प्रमाणित ई-पोस मशीनों के द्वारा ही चलाया जा सकेगा। कैबिनेट मंत्री ने बताया कि कार्डों में मौजूद सुरक्षा विशेषताएं अलट्रा वायलट लाईट में ही दिखाई देंगी। स्मार्ट राशन कार्डों में माईक्रो टेक्स्ट टेक्नोलोजी का भी प्रयोग किया जा रहा है जोकि नंगीं आँखों के द्वारा दिखाई नहीं देगी। कार्डों के पिछली तरफ छापा गया क्यू आर कोड एक से अधिक क्षेत्रों का सुमेल है। इसके अलावा स्मार्ट राशन कार्ड स्टेट फैमिली आई डी से भी जुड़े होंगे, जोकि पंजाब सरकार द्वारा सभी केंद्रीय /राज्य योजनाओं के लाभ लेने के लिए यूनीफाईड स्टेट आईडैंटटी कार्ड के अंतर्गत जारी किये गए हैं, जिसके लिए परिवार हकदार है। स्टेट फैमिली आईडी 'पीबीएफÓ होगी जिसके बाद 9 अंकों वाला नंबर होगा, जैसे कि पीबीएफ 123456789 जिसको चैक्कसम वैधता के जरिये समर्थन दिया जायेगा। यह यूनीफाईड स्टेट आईडी राज्य को अलग-अलग स्कीमों अधीन आने वाले परिवारों /नागरिकों का स्टेट डेटाबेस बनाने में सहायता करेगी।