अनुसूचित जाति उपयोजना में कुल्लू के लिए 48.33 करोड़ का प्रावधान

कुल्लू (उत्तम हिन्दू न्यूज): अनुसूचित जाति उपयोजना के अंतर्गत कुल्लू जिला के लिए वर्तमान वित्त वर्ष के लिए 48 करोड़ 33 लाख 47 हजार रुपये का बजट आबंटित किया गया है। इसमें से पहली तिमाही के दौरान 4.52 करोड़ की राशि खर्च की गई है। यह जानकारी शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने यहां देव सदन में आयोजित अनुसूचित जाति उपयोजना समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।

बैठक में आनी के विधायक किशोरी लाल भी मौजूद रहे। गोविंद ठाकुर ने अधिकारियों से कहा कि पहली तिमाही के दौरान कोरोना संकट के दृष्टिगत लॉकडाउन के कारण अधिकांश क्षेत्रों में विभाग कार्यों को नहीं करवा पाए, लेकिन अब निर्माण सहित सभी योजनाओं पर कार्य सुचारू रूप से ेचल रहे हैं और ऐसे में अधिकारियों को निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे। उन्होंने अधिकारियों से सभी प्रकार के निर्माण कार्यों में गुणवत्ता सुनिश्चित बनाने के निर्देश दिए। बैठक में अवगत करवाया गया कि लोक निर्माण विभाग में 122 योजनाओं के लिए 1723 लाख रूपये का बजट प्रावधान किया गया है। 

इनमें से 19 योजनाएं पूरी हो चूकी हैं, 25 पर कार्य चला है जबकि 29 योजनाओं में कुछ विवाद हैं जिन्हें दूर किया जा रहा है। शिक्षा मंत्री ने नेहरू कुण्ड पुल, सोलंग नाला पुल, जगतसुख व छाकी पुलों के निर्माण में हो रही देरी पर नाराजगी जाहिर की। इसपर अधीक्षण अभियंता ने बताया कि ठेकेदार के कारण निर्माण कार्य में विलंब हो रहा है। हालांकि ठेकेदार को 23 लाख रुपये की पेनल्टी भी लगाई है लेकिन ए-श्रेणी में एक ठेकेदार के पास चार से पांच बड़े कार्य हैं। मंत्री ने निर्माण में देरी करने वाले ठेकेदारों को ब्लैक लिस्ट करने को कहा।